महिला सैनिक अफसरों की नग्न तस्वीरें सोशल मीडिया पर, सेना ने दिया जांच का आदेश

महिला सैनिक अफसरों की नग्न तस्वीरें सोशल मीडिया पर, सेना ने दिया जांच का आदेश




वाशिंगटन: कोई सैनिक अपनी सहयोगी महिला सैनिकों का नग्न फोटो सोशल मीडिया पर कैसे डाल सकता है. लेकिन यहां तो ऐसे मामलों की लाइन लगी है. अमेरिका के यूएस मरीन कॉर्प्स के सैन्यकर्मियों पर महिला कर्मियों की नग्न तस्वीरों को कथित रूप से सोशल मीडिया में शेयर के आरोप लगे लगे हैं. यूएस मरीन कॉर्प्स टाइम्स ने रविवार को यह जानकारी दी है कि ऐसे मामले सामने आए हैं और जाच की जा रही है.

एक अखबार को मरीन कॉर्प्स के प्रवक्ता ने जानकारी दी कि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि कितने सैन्यकर्मी इस घटना में संलिप्त हैं. मरीन कॉर्प्स नेवल क्रिमिनल इनवेस्टिगेटिव सर्विस इस घटना पर कोई भी बयान देने से बचती रही.

महिला अफसरों की नग्न तस्वीरें हुईं लीक, सेना ने दिए जांच के आदेश अमेरिका के यूएस मरीन कॉर्प्स के सैन्यकर्मियों पर महिला कर्मियों की नग्न तस्वीरों को कथित रूप से सोशल मीडिया में शेयर के आरोप लगे लगे हैं.

बताया जा रहा है कि मरीन कॉर्प्स ने एक दस्तावेज बनाया है जिसमें फेसबुक के उस क्लोस्ड ग्रुप का भी जिक्र है, जिसमें 30,000 से ज़्यादा मेंबर हैं और इसी ग्रुप में मरीन कॉर्प्स की महिला कर्मियों की आपत्तिजनक तस्वीरें शेयर की जाती थीं.

रिपोर्ट ये भी बताती है कि एक वेबसाइट के जरिये पूरा नेटवर्क बनाया गया जहां महिला सैन्यकर्मियों की नग्न तस्वीरें डाली जाती थीं, कुछ कर्मियों की तस्वीरें तो नाम, रैंक और ड्यूटी स्टेशन के साथ नेटवर्क पर मौजूद थीं.

दस्तावेज बताते हैं कि मरीन कॉर्प्स इन आरोपों को गंभीरता से लेती है, ऐसी घटनाओं से मरीन कॉर्प्स का नाम तो ख़राब होता ही है, साथ ही उसमें कार्यत सैनिकों में भी असुरक्षा का भाव उत्पन्न होता है. एडम स्मिथ, जो वाशिंगटन स्टेट से डेमोक्रैट नेता हैं, उन्होंने इस पूरी घटना की विस्तृत जांच और इसकी शिकार महिलाओं को इंसाफ देने की मांग की है.

अमेरिका में ऐसे मामले नए नहीं हैं, मई 2016 में पेंटागन ने एक सालाना रिपोर्ट में बताया कि अमेरिकी सेना ने साल 2015 में 6000 यौन शोषण की शिकायतें प्राप्त की. साल 2014 में यह आंकड़े उतने ही थे, लेकिन ऐसे मामले बहुत कम रिपोर्ट किये जाते हैं. ज्यादातर मामले इस लिए दबा दिए जाते हैं क्योंकि इससे सेना की बदनामी होती है.