RSS चीफ का सनसनीखेज बयान, मुसलमान किसी की भी इबादत करें लेकिन हैं हिंदू

अनिल वर्मा, संवाददाता
बैतूल (मध्य प्रदेश), राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के बीच बीच में आने वाले बयान पीएम मोदी और बीजेपी को झटका देते रहते हैं. ताज़ा बयान सरसंघ चालक विष्णु भागवत का है . विष्णु भागवत ने कहा कि इंग्लैंड में इंग्लिश, अमेरिका में अमेरिकन और हिन्दुस्तान में हिन्दू रहते हैं।’ इसलिए भारतीय मंच पर मुसलमानों को भारत माता की आरती करेगा करनी ही होती है। वह इबादत भले ही खुदा की करे, मगर आरती करने में क्या हर्ज है। दरअसल, एक दिन पहले आयोजन स्थल पर दीये जलाए गए थे। इसमें राष्ट्रीय मुस्लिम मंच के लोग भी शामिल हुए थे। भागवत उसी संदर्भ में बोल रहे थे। भागवत ने कहा कि हिंदुस्तान में रहने वाला मुसलमान इबादत से भले ही इस्लामिक हो,लेकिन आत्मा से वो हिंदू है। इससे पहले आरक्षण के खिलाफ बयान देकर भी संघ चुनाव से पहले झटका दे चुका है. बिहार चुनाव से पहले आए संघ के ऐसे ही बयान से बीजेपी को काफी नुकसान हुआ था.

उन्होंने कहा कि भारत देवी देवता तो बहुत है नए नए आते रहते है जात- पात भी बहुत लेकिन जाति एक ही रखो हमारे देश में ह्रदय की भाषा एक ही है भारत माता की जय एक ही भाषा में बोला जाता है चाहे वो किसी भी राज्य में बोला जाय अलग अलग भाषा में नहीं बोला जाता मनुष्य की दृष्टि से से पूजा करो भगवान तो एक ही है सबका उन्होंने कहा जैसे एक ही रंग से उबाई होने लगती है विविधता से ही एकता है देश का यही संदेश है हम सब एक है ,हम हिन्दू है जो हिंदुस्थान में रहता है वो हिन्दू है.

उन्होंने मुसलमानों से कहा कि वे इबादत से मुसलमान होंगे लेकिन राष्ट्रीयता से भारतीय है हम सभी को समाज बनाना है, यदि भारत का बुरा होता है तो इसकी जवाबदारी हिन्दू की होगी, भागवत ने कहा कि अंग्रेजों ने हमें टूटा हुआ आइना दे गए जिससे हम सब अलग अलग दिखाई देते है हमें इस टूटे हुए आईने को फेंककर नया आइना लगाना होगा जिससे हम सब एक दिखाई दे
<strong>सुरक्षा के थे पुख्ता इंतजाम</strong>
विराट हिन्दू सम्मलेन के दौरान सुरक्षा व्यवस्था में करीब एक हज़ार पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई थी हर चौक चौराहों पर पुलिस के जवान खड़े हुए थे जो कानून व्यवस्था को बनाए रखे थे सुरक्षा व्यवस्था की कमान 6वीं बटालियन जबलपुर के ए एस पी आरएस बेलवंसी एवम बैतूल एस डी ओपी सुश्री ज्योति उमठ एसपी राकेश जैन ने संभाल राखी थी. वे यंहा 20 मिनट रुके इसके बाद एस एस कार्यकर्ता उमेश खंडेलवाल के घर गंज पंहुचे उन्होंने यंहा मध्यान भोजन किया, स्थल पुलिस ग्राउंड पर बड़ा पंडाल लगाया हुआ था साथ ही भव्य मंच बनाया गया जिससे संघ प्रमुख ने संबोधन किया. भागवत स्थानीय जेल भी गए जहां कुछ दिन के लिए गुरु गोलवलकर से पूछताछ की गई थी.
<strong>कांग्रेस ने जताई आपत्ति</strong>
भागवत के बैतूल जेल विजिट पर कांग्रेस ने आपत्ति जताई है। कांग्रेस का कहना है कि संघ प्रमुख किसी संवैधानिक पद पर नहीं हैं, इसलिए उन्हें जेल के भीतर आयोजित होने वाले कार्यक्रम के लिए प्रवेश देना जेल मैन्युअल का उल्लंघन है।

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें