गौरव : भारत में होगा 500 किलो वजन वाली लड़की का इलाज

गौरव : भारत में होगा 500 किलो वजन वाली लड़की का इलाज




मुंबई: भारतीय चिकित्सा विज्ञान दुनिया में काफी इज्जत के मुकाम पर पहुंच चुका है. पिछले 15 साल में भारतीय डॉक्टरों ने बड़े ब़़ड़े कमाल करके दुनिया में नाम हासिल किया है. अब दुनिया की  सबसे मोटी महिला मानी जा रही इमान अहमद की  बैरिएट्रिक सर्जरी का जिम्मा भी भारत के डॉक्टरों ने उठाया है वो भारत पहुंच चुकी हैं और अगल तीन महीने तक उनका वज़न कम करने का इलाज होगा. मिस्र की रहने वाली इमान का वजन 500 Kg है. मुंबई के डॉक्टर मफी लकड़ावाला और उनकी टीम 36 साल की इस महिला का सर्जरी के बाद इलाज करेगी. डॉक्टरों की टीम स्पेशल प्लेन से इमान को लेकर आई है. उनके लिए रोड और एयर ट्रैवल के खास इंजताम किए गए.

ज्यादा वजन के चलते इमान 25 साल से घर से बाहर नहीं निकल पाईं और ना ही कभी स्कूल गईं. डॉक्टर लकड़ावाला ने कहा, ”देश में पहली बार सभी जरूरी मेडिकल इक्विपमेंट्स एक ट्रक में लगाए गए. इसी के जरिए इमान को एयरपोर्ट से हॉस्पिटल लाया गया. इसके पीछे एक एम्बुलेंस और आगे पुलिस की गाड़ी चली. सैफी हॉस्पिटल में उसके लिए खास कमरा तैयार किया गया है.” ”इस तरह के मरीजों को शिफ्ट करने में काफी रिस्क होता है. इसलिए हमारी टीम काफी एहतियात बरत रही है. भारत और मिस्र में उनके ट्रैवल के लिए खास इंतजाम किए गए हैं.”

सुषमा स्वराज ने की मदद

इमान को भारत लाने के लिए पहले कोई एयरलाइन्स उसे भारत लाने को तैयार नहीं थी. फिर वीजा मिलने में भी दिक्कत आई. डाॅ. लकड़ावाला ने विदेश मंत्री को ट्वीट कर बताया था, ”मैम, 500 Kg की इमान अहमद ने अपनी जान बचाने के लिए मुझसे मदद मांगी है. उसे नॉर्मल प्रॉसेस के तहत वीजा नहीं मिल पाया. प्लीज, उसे मेडिकल वीजा दिलवाने में मदद करें.” इस पर सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर कहा था, ”इस गंभीर मामले को मेरे सामने लाने के लिए शुक्रिया (डॉक्टर), हम निश्चित तौर पर उनकी मदद करेंगे.”

ये मोटापा नहीं, बीमारी है

कुछ डॉक्टरों ने इमान को एलिफेंटाइसिस का मरीज बताया है. इसमें पैरों में काफी सूजन आ जाती है. यह एक पैरासाइट से होता है. डॉक्टरों का यह भी कहना है कि उसकी बॉडी में जरूरत से ज्यादा पानी जमा हो गया है. इससे महिला का वजन बढ़ रहा है. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो मिस्र के डॉक्टर उसका इलाज नहीं कर पा रहे हैं. फैमिली ने अपने प्रेसिडेंट को ऑनलाइन पिटीशन दी. आखिर में इमान की फैमिली मदद के लिए भारत के डॉक्टर लकड़ावाला तक पहुंच गई.

कौन हैं इमान?

बता दें कि 36 साल की इमान अहमद अब्दुलाती मिस्र के एलेग्जेंड्रिया में रहती हैं. भारी-भरकम शरीर की वजह से 25 साल से घर से नहीं निकल सकी हैं. यहां तक कि अपने बिस्तर तक से भी नहीं हिल पाती हैं. जन्म के वक्त ही इमान का वजन पांच किलो था. वह कभी स्कूल नहीं गईं.