छोटे बच्चों के मांबाप ये खबर ज़रूर पढ़ें, दूसरों को भी पढ़वाएं, भावुक दिल वाले न ही पढ़ें तो ठीक

छोटे बच्चों के मांबाप ये खबर ज़रूर पढ़ें, दूसरों को भी पढ़वाएं, भावुक दिल वाले न ही पढ़ें तो ठीक




नई दिल्‍ली:  आपके घर में छोटे बच्चे हैं बेहद सावधान रहें. कम से कम वाशिंग मशीन को तो खतरनाक चीज़ों की लिस्ट में डाल ही लें. दिल्ली के विजय विहार इलाके में वांशिग मशीन के टैंक में गिरकर जुड़वां बच्चों की मौत हो गई. दोनों की उम्र तीन साल बताई जा रही है.  उत्तरी दिल्ली के अवंतिका में रविन्द्र परिवार के साथ रहते हैं. वह कोटक महिंद्रा बैंक में काम करते हैं. परिवार में पत्नी राखी और तीन बेटे हैं. बड़ा बेटा 10 साल और दो जुड़वां तीन साल के हैं. दोनों के नाम निशांत और नक्षत्र हैं.
शनिवार दोपहर करीब 1 बजे मां घर पर वाशिंग मशीन में कपड़े धो रही थी. निशांत और नक्षय पास ही खेल रहे थे. मां सर्फ़ का पैकेट लेने चली गई. इस बीच दोनों जुड़वा भाई वांशिग मशीन के ऊपर चढ़कर कपड़े धोने के टैंक में गिर गये. सर्फ़ लेकर वापस लौटने पर मां ने दोनों को डूबा देखा, जिसके बाद बदहवास हो कर चीखने चिलाने लगी. उनकी आवाज सुनकर

आसपास के लोग एकत्रित हो गए और दोनों को तुरंत नजदीकी अस्पताल ले गए जहां से मामले की सूचना पुलिस को दी गई. अस्पताल में डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया.

आपको बताते हैं कि  वाशिंग मशीन Semi automatic  और  Top loading थी जिसमे वाशिंग और drying एरिया अलग अलग होता है। बच्चे वाशिंग एरिया में डूबे। जिस पर ढक्कन नही लगा हुआ था। न ही बिजली के लिए प्लग लगाया गया था और न ही आस पास कोई ऊँची चीज़ थी। पड़ोस में दो सीसीटीवी लगे

दरअसल महिला पूरी तैयारी करके वाशिंग पाउडर लाने के लिए बाहर गयी लेकिन घर खुला छोड़ दिया। करीब 6 मिंट बाद जब वो लौटी तो बच्चे को न पाये जाने पर घर से बाहर खजनी निकल पड़ी। दरअसल दोनों बच्चे इससे पहले घर खुला होने पर बाहर निकल जाते थे।  महिला ने पड़ोसियों का cctv देखना चाहा पर  पडोसी को cctv चलाना नही आता और जब तक ऑपरेटर बुलाया गया तब तक घंटो बीत गया इन सब के बीच पति ने घर को छान मारा और जब वाशिंग मशीन के पास जाकर देखा तो दोनों बच्चे औंधे मुंह मशीन के वाटर टैंक में गिरे पड़े थे जिसमें करीब 15 से 25 letr पानी भरा हुआ था। फिलहाल बच्चो का अंतिम संस्कार हो चुका है। बिना किसी पोस्टमॉर्टेम के।