यूपी एसटीएफ करेगी सनी लियोनी से पूछताछ? गंभीर हैं आरोप

यूपी एसटीएफ करेगी सनी लियोनी से पूछताछ? गंभीर हैं आरोप

नई दिल्ली: जानी मानी फिल्मी हस्ती सनी लियोनी से यूपी एसटीएफ पूछताछ कर सकता है. मीडिया रिपोर्ट्स में डीएसपी (एसटीएफ) राज कुमार मिश्रा के हवाले से कहा गया है कि प्राइज चिट्स एंड मनी सर्कुलेशन स्कीम एक्ट, 1978 के तहत इस तरह की स्कीम का प्रमोशन गैरकानूनी है. उन्होने कहा नई दिल्ली: जानी मानी फिल्मी हस्ती सनी लियोनी से यूपी एसटीएफ पूछताछ कर सकता है. मीडिया रिपोर्ट्स में डीएसपी (एसटीएफ) राज कुमार मिश्रा के हवाले से कहा गया है कि प्राइज चिट्स एंड मनी सर्कुलेशन स्कीम एक्ट, 1978 के तहत इस तरह की स्कीम का प्रमोशन गैरकानूनी है. उन्होने कहा कि – हमें होटल स्टॉफ से सबूत के तौर पर एक्ट्रेस के कुछ फोटो मिले हैं. अगर जरूरत हुई तो उनसे भी पूछताछ होगी. अभी सनी लियोनी और अमीषा पटेल जो फोटो सामने आई है, वह मित्तल के बर्थ डे पार्टी की है. फिलहाल, ये इवेंट जांच में शामिल नहीं है.
सोशल नेटवर्किंग के जरिए 7 लाख लोगों से 3700 करोड़ की ठगी के आरोपी अभिनव मित्तल के उन पांच ठिकानों पर ईडी ने मंगलवार को छापे मारे. दूसरी ओर, मित्तल की कंपनी के प्रमोशनल इवेंट में शामिल होने पर एक्ट्रेस सनी लियोनी से भी पुलिस पूछताछ कर सकती है. इससे पहले सोमवार को यूपी एसटीएफ ने ग्रेटर नोएडा के उस होटल स्टॉफ के बयान लिए जिसमें पिछले 29 नंबवर को पोर्टल की लॉन्चिंग रखी गई थी. सामने आई थीं सनी लियोनी के साथ फोटोज . मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, डीएसपी (एसटीएफ) राज कुमार मिश्रा ने कहा- प्राइज चिट्स एंड मनी सर्कुलेशन स्कीम एक्ट, 1978 के तहत इस तरह की स्कीम का प्रमोशन गैरकानूनी है. हमें होटल स्टॉफ से सबूत के तौर पर एक्ट्रेस के कुछ फोटो मिले हैं. अगर जरूरत हुई तो उनसे भी पूछताछ होगी. अभी सनी लियोनी और अमीषा पटेल जो फोटो सामने आई है, वह मित्तल के बर्थ डे पार्टी की है. फिलहाल, ये इवेंट जांच में शामिल नहीं है.
ठगी के लिए बनाई 4 फर्म जांच में पता चला है कि मित्तल और उसके सहयोगी एब्लेज, सोशल ट्रेड प्राइवेट लिमिटेड, 3W डिजिटल प्राइवेट लिमिटेड और इंटमार्ट प्राइवेट लिमिटेड फर्म के जरिए मल्टी लेवल मार्केटिंग और पॉन्जी स्कीम ऑपरेट कर रहे थे. 12 बैंक खातों में 524 करोड़ रुपए जमा होने का पता चला था. पुलिस को शक है कि ये फर्म नोटबंदी के दौरान ब्लैकमनी खपाने का जरिया भी हो सकती हैं. इसकी भी जांच की जा रही है.
कैसे हुई ठगी? आरोपी मित्तल बीटेक है. उसने एक कंपनी बनाकर कई बार नाम बदले. कई पोर्टल बनाकर लोगों को एक लाइक के बदले 5 रुपए देने का लालच दिया. पिछले दिनों पुलिस की जांच में खुलासा हुआ कि आरोपी ने एक साल में करीब 7 लाख लोगों से 3700 करोड़ रुपए ठग लिए. कंपनी से जुड़ने के लिए किसी मेंबर से 5,750 से 57,000 रुपए तक लिए गए. कुछ दिन तो पैसे आए, लेकिन फिर इन्वेस्टर्स को ठगी का अहसास हुआ.
विदेश से भी शिकायतें करोड़ों रुपए की इस ठगी मामले में एसटीएफ को ऑनलाइन भी शिकायतें मिल रही हैं. पुलिस ने ठगी के शिकार लोगों के लिए एक ऑनलाइन आईडी जारी की थी, इस आईडी पर कई लोग शिकायत कर रहे हैं. एसटीएफ का कहना है कि ईमेल पर पूरे देश सहित सिंगापुर, इंडोनेशिया, नाइजीरिया और दुबई से भी बड़ी शिकायतें मिल रही हैं.