पाकिस्तान दीवालिया होने के कगार पर , चीन में चिंता

पाकिस्तान दीवालिया होने के कगार पर , चीन में चिंता




नई दिल्ली: पाकिस्तान की आर्थिक हालत लगातार बिगड़ रही है. वहां का राजकोषीय घाटा लगातार बढ़ रहा है. इस हालत से सबसे ज्यादा चीन चिंता में है. पाकिस्तान पर बढ़ते कर्ज ने चीन की चिंता बढ़ा दी है. सरकारी मीडिया ने कहा है कि चीन को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि पाक में बढ़ते राजकोषीय घाटे से कोई बड़ा वित्तीय संकट पैदा न हो.

दरअसल चीन ने पाकिस्तान में भारी भरकम निवेश कर रखा है. खासतौर से पीओके के रास्ते गुजर रहे आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) में ही चीन ने 46 अरब डॉलर का निवेश किया है.

सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने कहा, ‘वैसे तो पाकिस्तान एक तेजी से बढ़ती हुई अर्थव्यवस्था है और उसने दुनिया भर के निवेशकों को अपनी ओर आकर्षित किया है.

लेकिन बढ़ते सार्वजनिक ऋण और राजकोषीय घाटे से अंतरराष्ट्रीय निवेशकों की चिंता बढ़ गई है. ऐसे में पाकिस्तान के कर्ज चुकाने की क्षमता को लेकर संदेह भी पैदा हो गया है.’