ऊंची इमारत वाले भूकंप में क्या करें ? और कहीं नही मिलेगी ये जानकारी

ऊंची इमारत वाले भूकंप में क्या करें ? और कहीं नही मिलेगी ये जानकारी




नई दिल्ली: उत्तर भारत में भूकंप के झटके आए हैं. सबसे बड़ा सवाल ये है कि उंची इमारतों में अगर आप भूकंप में फंस गए तो क्या करेंगे. न तो आप 10 से ज्यादा मंज़िल से दौड़कर नीचे आ सकते न ही ऐसे में सीढ़ियां उतरने की सलाह दी जाती है. लिफ्ट में भी भूकंप के दौरान जाने की सलाह नहीं दी जाती. अब सवाल उठता है कि भूंकंप में घिरकर आप क्या करें. इन्हीं सवालों का जवाब हम एक्सपर्ट की सलाह से आपके लिए लाए हैं.
=> शांत रहें आराम से घर के दरवाजे की चौखट या बिल्डिंग के पिलर्स या बीम के नीचे खड़े हो जाएं.
=> आजकल ज्यादातर ऊंची इमारतें भूकंप रोधी होती हैं इसलिए आपके घर में कोई खतरा नहीं है.
=> अलमारियों बगैरह और बुक रैक्स से दूर रहें क्योंकि ये फर्नीचर हिलने के कारण आपके सिर पर गिर सकते हैं.
=> ऐसी टांड बगैरह से दूर रहें जिनपर सामान रहता है. सरककर ये सामान आपके सिर पर गिर सकता है.
=> बिस्तर पर हैं तो तकिया सिर पर रख लें. भूकंप में ज्यादातर मौतें भारी सामान सिर पर गिरने से होती है.
=>घबरायें नहीं। भगदड़ ना मचाए। भूकंप के वक्त अगर आप सड़क पर है तो ऊंची इमारतों, बिजली के खंभों आदि से दूर रहे। गाड़ी चला रहें हो तो तुंरत ही रोक कर खड़े हो जाए। गाड़ी से बाहर ना निकले।
=>भूकंप के दौरान अगर आप घर या ऑफिस के भीतर है तो फर्श पर बैठ जाए, मजबूत मेज या कैबिनेट के नीचे बैठ सकते है। इमारत व घर के कांच खिड़की, दीवारो आदि से दूर रहें।
=>भूकंप के दौरान लिफ्ट का प्रयोग ना करे। बिजली से जुड़े सामानों का प्रयोग भी ना करें।
=>मलबे में दबे होने की स्थिति में किसी पाइप या दीवार पर हल्के-हल्के थपथपाएं, जिससे कि बचावकर्मी आपकी स्थिति समझ सकें।
=>मलबे में फंस जाने पर शोर मचाने से आपकी सांसों में दमघोंटू धूल और गर्द जा सकती है। ऐसे में कोशिश करे कि कोई विकल्प ना बचने पर ही इसका सहारा लें।