यूपी में ऐसे गुंजा राज खत्म करेगी बीजेपी? BJP के मध्यप्रदेश में महिला IAS पर रेत माफिया ने बंदूक तानी

यूपी में ऐसे गुंजा राज खत्म करेगी बीजेपी? BJP के मध्यप्रदेश में महिला IAS पर रेत माफिया ने बंदूक तानी

नई दिल्ली:  यूपी में बीजेपी के लिए चुनाव में गुंडा राज और खनन माफिया की गुंडागर्दी सबसे अहम चुनावी मुद्दा है. पीएम मोदी से लेकर छोटे मोटे नेता तक लगातार खनन माफिया पर हमले का मुद्दा उठा रहे हैं. पार्टी मानती है कि गुंडाराज उसके लिए सबसे बड़ा मसला बनेगा . लेकिन उसके अपने शासन वाले मध्य प्रदेश के इस मामले ने पार्टी के लिए परेशानियां खड़ी कर दी है.  कादडा मामला छतरपुर के बमीठा का है यहां खनन माफिया ने महिला आईएएस अफसर के साथ बदसलूकी की और गाली गलौज की. उसने सिपाही पर बंदूक तान दी और आईएएस अफसर को गोली मारने की धमकी दी.

दरअसल  जहां राजनगर की SDM सोनिया मीणा अवैध खनन माफियाओं के खिलाफ अभियान पर थीं. इससे खनन माफियाओं में हड़कंप मच गया. बुधवार को दिन भर खनन माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने के बाद जब ट्रेनी आईएएस अफसर सोनिया मीणा शाम में करीब पांच बजे दफ्तर लौटने लगीं और अवैध बालू से लदा एक ट्रैक्टर दिखाई दिया. उन्होंने ट्रैक्टर को को थाने ले जाने का दिया लगीं तभी खनन माफिया और ट्रैक्टर मालिक अर्जुन सिंह टुरया वहां आ धमका. अर्जुन टुरिया सत्ताधारी बीजेपी के कई नेताओं के नज़दीक है.

अर्जुन सिंह ने आते ही ट्रैक्टर पर बैठे सिपाही भगवंत यादव पर बंदूक तान दी और उसे उतार कर ट्रैक्टर ले जाने लगा. इस बीच एसडीएम सोनिया मीणा ने अर्जुन सिंह को ऐसा करने से मना किया तो उसने हवा में बंदूक लहराते हुए महिला अधिकारी से न केवल अभद्रता की बल्कि उन्हें गालियां भी दी. मामले में दखल देने की कोशिश कर रहे एक अन्य सिपाही को भी अर्जुन सिंह ने धकेल दिया और सैकड़ों लोगों की मौजूदगी में खुद ट्रैक्टर छुड़ा कर ले गया. यह वाकया थाने से महज 500 मीटर की दूरी पर हुआ.

इस घटना से गुस्साई सोनिया मीणा थाने पहुंची जहां उन्होंने थाना इंचार्ज एस.पी. सिंह सिसोदिया को मामले की जानकारी दी और फोर्स ले जाकर आरोपी को तत्काल गिरफ्तार करने और उसकी बन्दूक का लाइसेंस निरस्त करने के आदेश दिये. इसके बाद मामले की जानकारी पुलिस और प्रशासन के बड़े अधिकारियों को दी गई. मौके पर पहुंचे एसडीओपी मो. इसरार मंसूरी ने पुलिस टीम बनाकर आरोपी की हरसंभव गिरफ्तारी की बात कही लेकिन अभी तक उसकी गिरफ्तारी नहीं हो सकी है. अर्जुन सिंह इलाके का दबंग है और उसकी दहशत इलाके में रहती है. शायद यही वजह है कि वो नदियों से बालू का अवैध उत्खनन करता है.

बाद में प्रशासनिक अमले ने मामले को कमतर करने की कोशिश की. परिहार के एएसपी के मुताबिक अर्जुन सिंह ने SDM के साथ बदतमीजी नहीं की बल्कि आईएएस अफसर के साथ जो सिपाही था, उसके साथ की है जिसकी रिपोर्ट पर आरोपी अर्जुन सिंह टुरिया के खिलाफ आईपीसी की धारा 334, 332, 386, 294, 506B, 34 के तहत मामला दर्ज कर लिया है. हालांकि, कई प्रत्यक्षदर्शी और वहां मौजूद पुलिसकर्मी भी कह चुके हैं कि बदतमीजी की घटना एसडीएम के साथ ही हुई है. फिलहाल आरोपी की तलाश की जा रही है. inputs and video courtesy- jansatta