अगले कुछ दिन बढ़ेगा सर्दी का सितम, बर्फवारी और बारिश से पड़ेगी हाड़ कंपा देने वाली ठंड

अगले कुछ दिन बढ़ेगा सर्दी का सितम, बर्फवारी और बारिश से पड़ेगी हाड़ कंपा देने वाली ठंड




नई दिल्ली: कल यानी चार जनवरी से मौसम फिर करवट लेगा और जाड़ा इस मौसम के सबसे ऊंचे स्तर पर जा सकता है.

इसकी वजह है उत्तर-पश्चिम भारत में अगले 24 से 48 घंटे में संभावित पक्षिमी विक्षोभ. मौसम विभाग का अनुमान है  कि इस पक्षिमी विक्षोभ के चलते जम्मू कश्मीर में कारगिल, कश्मीर और जम्मू सभी इलाकों में घने बादलों के बीच रुक रुक कर बरसात का सिलसिला शुरू हो जाएगा और इसी के साथ ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फ गिरने का दौर भी शुरू हो जाएगा.

इसके बाद  6 तारीख से एक दूसरा पक्षिमी विक्षोभ दस्तक दे देगा. यह डिस्टरबेंस पहले वाले से और ज्यादा ताकतवर होगा इसकी वजह से जम्मू कश्मीर और हिमाचल के साथ-साथ उत्तराखंड के तमाम इलाकों में बरसात और जबरदस्त बर्फबारी होने की संभावना जताई जा रही है. खास बात 4 जनवरी से शुरू होने जा रहा बरसात और बर्फबारी का यह दौर अगले 5 से 6 दिनों तक चलेगा.

ऐसा कहा जा रहा है कि जम्मू कश्मीर में दस्तक देने जा रहा यह वेदर सिस्टम काफी ताकतवर है और इसकी वजह से कई इलाकों में भारी से बहुत भारी हिमपात होने की आशंका है.

मौसम के जानकारों का कहना है 4 तारीख से हिमाचल के तमाम इलाकों में अच्छी बर्फबारी होने की संभावना है. ऐसा अनुमान है की 4 तारीख को चंबा लाहौल, स्पीति, मनाली, कुल्लू, किन्नौर के आसपास मौसम बदल जाएगा निचले इलाकों में बरसात ऊंचाई वाले इलाकों में जोरदार पर बरसात होने का अनुमान है.

बरसात और बर्फबारी का यह दौर 5 और 6 तारीख तक चलेगा. 6 तारीख से आने जा रहा दूसरा पक्षिमी विक्षोभ 7 जनवरी,  8 जनवरी और 9 जनवरी तक चलेगा.  दूसरे पक्षिमी विक्षोभ की वजह से 7 जनवरी से लेकर 9 जनवरी तक हिमाचल के ज्यादातर इलाकों में अच्छी बरसात और जोरदार बर्फवारी होगी.

उधर उत्तराखंड की बात करें तो यहां पर 4 तारीख से लेकर 6 तारीख तक कई इलाकों में छिटपुट बरसात और ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी होने का अनुमान है.  लेकिन यहां पर इस दौरान ज्यादातर इलाकों में मौसम सूखा रहने के अंदेशा जताया जा रहा है. लेकिन उत्तराखंड में 7 जनवरी से लेकर 10 जनवरी तक ज्यादातर इलाकों में बरसात और बर्फबारी का अंदेशा है.

मौसम विभाग का अनुमान इस दौरान कई इलाकों में भारी बरसात हो सकती है.

उत्तर पश्चिम हिमालय के तीनों राज्यों में मौसम करवट लेगा और अच्छी बर्फबारी होगी तो  तो मैदानी इलाके भी मौसम की मार से अछूते नहीं रह जाएंगे.  ऐसा अनुमान है कि 7 तारीख से पंजाब हरियाणा के साथ-साथ दिल्ली एनसीआर के तमाम इलाकों में 8 जनवरी तक बादलों की आवाजाही के बीच बरसात होने का अंदेशा है.  इस बरसात के चलते दिन के तापमान में गिरावट देखी जाएगी लेकिन रात के तापमान बढ़ जाएंगे.

मौसम की जानकारी का कहना है कि जनवरी में हो रही बरसात के चलते उत्तर भारत के तापमान में बहुत ज्यादा गिरावट होने का अनुमान नहीं है इसके उलट यहां पर न्यूनतम तापमान और अधिकतम तापमान सामान्य से ऊपर ही बने रहेंगे.

इसकी वजह यह बताई जा रही है की पक्षिमी विक्षोभ के चलते बरसात की संभावना तो जरूर बनी है लेकिन पूरब से चल रही हवाएं अपने साथ बंगाल की खाड़ी की नमी लेकर आ रही है जिसके चलते पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार के तमाम इलाकों में बादलों की आवाजाही के बीच छिटपुट बरसात की संभावना बन रही है.  मौसम के इस मिजाज के बीच जनवरी की जबरदस्त ठंड इस बार लगता है लोगों को नहीं सताएगी.