बीएसएफ से बाहर होंगे जवान तेज़ बहादुर, 31 जनवरी को लास्ट वर्किंग डे

बीएसएफ से बाहर होंगे जवान तेज़ बहादुर, 31 जनवरी को लास्ट वर्किंग डे

नयी दिल्ली : आखिर सोशल मीडिया में वीडियो जारी कर जवानों को दिए जाने वाली घटिया खुराक की सचाई को उजागर करने वाले बीएसएफ जवान तेजबहादुर से छुटकारा मिल गया है. बीएसएफ ने उसे वीआरएस (वक्त से पहले रिटायर होने) की इजाजत दे दी है. तेजबहादुर 31 जनवरी को रिटायर्ड होंगे. तेजबहादुर ने सोशल मीडिया पर वीडियो डालने से पहले ही वीआरएस के लिए अर्जी दी थी. उनकी इस अर्जी पर विचार चल रहा था. विवाद सामने आते आज ही बीएसएफ ने एक झटके में तेज वहादुर को वक्त से पहले रिटायर होने की इजाजत दे दी.
वीडियो अपलोड करने के बाद तेजबहादुर की छवि को लेकर भी तरह – तरह के सवाल उठे हैं. इसमें उसके गुस्सैल स्वभाव की भी चर्चा हुई. हालांकि उनके वीडियो पर पीएमओ और गृह मंत्रालय ने भी संज्ञान लिया और खाने की जांच के आदेश दिये हैं. पीएमओ ने इस संबंध में रिपोर्ट तलब की है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जवान के आरोपों पर सीआरपीएफ से पूरी रिपोर्ट देने को कहा है.
ज्ञात हो कि बीएसएफ के जवान तेजबहादुर यादव ने फेसबुक पर वीडियो के जरिए बड़े अफसरों पर जवानों को मिलने वाले खाने में घोटाला करने का गंभीर आरोप लगाया. उन्होंने जवानों को मिलने वाले खुराक का भी वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर अपलोड किया, जिसके बाद हड़कंप मच गया और बीएसएफ के अधिकारियों को सामने आकर बयान देना पड़़ा.