महात्मा गांधी को हटाकर मोदी की तस्वीर, एक और छिछला कदम

महात्मा गांधी को हटाकर मोदी की तस्वीर, एक और छिछला कदम




मुंबई: महात्मा गांधी से मोदी और उनकी पार्टी की पता नहीं क्या दुश्मनी है. लगातार वो गांधी जी के बारे में बकवास करते हैं, उनके चरित्र पर सवाल उठाते हैं और उनके नाम को मिटाने की टुच्ची साजिशें करते हैं.
ताज़ा मामला खादी ग्रामोद्योग की ओर से जारी किए जाने वाले सालाना कैलेंडर और डायरियों का है हर साल इन पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की तस्वीर छपती थी. लेकिन, इस बार कैलेंडर और डायरी से उनकी तस्वीर गायब कर दी गई है और गाधी जी की तस्वीर हटाकर खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तस्वीर लगा दी गई है.
नवभारत टाइम्स ने खादी ग्रामोद्योग आयोग के आधिकारिक सूत्रों के हवाले से ये खबर दी है . आयोग के ज्यादातर कर्मचारी और अधिकारी उस वक्त हैरान रह गए, जब कैलेंडर के कवर पर गांधी जी की बजाय पीएम नरेंद्र मोदी की तस्वीर दिखी. इस तस्वीर में नरेंद्र मोदी चरखा चलाते दिख रहे हैं. इससे पहले गांधी जी की भी चरखा चलाने की तस्वीर ही छपती थी.

इस बारे में संपर्क किए जाने पर आयोग के चेयरमैन विनय कुमार सक्सेना ने कहा कि यह हैरान होने जैसी बात नहीं है और पहले भी ऐसा होता रहा है. सक्सेना ने कहा, ‘पूरा खादी उद्योग ही गांधी जी के दर्शन, विचारों और आदर्शों पर आधारित है. वह खादी ग्रामोद्योग की आत्मा जैसे हैं. ऐसे में उन्हें नजरअंदाज किए जाने का कोई सवाल ही नहीं उठता.’
आयोग के कर्मचारी ने नाम उजागर न करने की शर्त पर कहा, ‘सरकार की ओर से इस तरह महात्मा गांधी के दर्शन, विचारों और आदर्शों को खारिज किए जाने से हम दुखी हैं.
पिछले साल ऐसा पहला प्रयास किया गया था, जब कैलेंडर में पीएम मोदी की तस्वीर छापा गया.’ 2016 के कैलेंडर में पीएम मोदी की तस्वीर छापे जाने के मुद्दे को आयोग की स्टाफ यूनियंस ने उठाया था. इस पर मैनेजमेंट की ओर से भविष्य में ऐसा न होने का आश्वासन दिया गया था.