हाफि़ज़ सईद अपने घर में नज़रबंद, सब जानना चाहते हैं इनसाइड स्टोरी

हाफि़ज़ सईद अपने घर में नज़रबंद, सब जानना चाहते हैं इनसाइड स्टोरी

नई दिल्ली: पाकिस्तान में लश्कर-ए-तैयबा के चीफ हाफिज सईद को नजरबंद कर लिया गया है. हालांकि हाफिज सईद का दावा है कि उसे गिरफ्तार किया गया.हाफिज ने एक वीडियो जारी करके कहा कि नरेंद्र मोदी के कारण उसकी गिरफ्तारी हुई. पाकिस्तान के एआरवाय चैनल के मुताबिक, सईद को डोनाल्ड ट्रम्प के डर से नजरबंद किया गया है. पाकिस्तान के पंजाब की सरकार ने सईद की गिरफ्तारी की पुष्टि की है. बताया जाता है कि सईद को लाहौर में किसी सीक्रेट लोकेशन पर रखा गया है. क्या बोले पाकिस्तान के होम मिनिस्टर.
सोमवार दोपहर ही पाकिस्तान के होम मिनिस्टर चौधरी निसार अली खान ने मीडिया से कहा था कि जमात-उद-दावा के चीफ हाफिज सईद को अमेरिका ने आतंकी घोषित किया है. खान ने ये भी कहा कि पाकिस्तान सईद पर 2010 से ही नजर रख रहा था.
खान ने कहा, जमात साफ तौर पर बैन ऑर्गनाइजेशन है. यूएन सिक्युरिटी काउंसिल भी उसे बैन कर चुका है. सरकार को उसके खिलाफ एक्शन लेना ही होगा. चौधरी ने कहा कि सईद के खिलाफ लंबे वक्त से एक्शन पेंडिंग है. निसार के बयान के कुछ घंटे बाद ही सईद को गिरफ्तारी कर लिया गया.
यूएस प्रेसिडेंट ट्रम्प के बारे में पूछे गए एक सवाल पर खान ने कहा- ट्रम्प के निशाने पर वो लोग हैं जो टेरेरिज्म के शिकार हुए. अमेरिका आतंकवादियों को निशाना कहां बना रहा है?
ट्रम्प के डर से पाकिस्तान ने लिया एक्शन
पाकिस्तान का मीडिया इसे ट्रम्प सरकार के डर से उठाया गया कदम बता रहे हैं. बता दें कि अमेरिका ने 7 मुस्लिम देशों के नागरिकों के अमेरिका में आने पर बैन लगा दिया है. माना जा रहा है कि पाकिस्तान पर भी अमेरिका बैन लगा सकता है.
ट्रम्प साफ कर चुके हैं कि आतंकवाद फैलाने वाले देशों पर बैन लगाया जाएगा. सईद की नजरबंदी अमेरिका के डर से उठाया गया कदम माना जा रहा है.
पाकिस्तान के सिक्युरिटी एक्सपर्ट आरिफ जमाल ने कहा- सईद खुद कह रहा है कि उसे मोदी और अमेरिका की वजह से गिरफ्तारी किया गया है.
गिरफ्तारी के बाद जारी किया वीडियो
चौंकाने वाली बात ये है कि गिरफ्तारी होने के बाद भी सईद ने एक वीडियो जारी कर अपने समर्थकों को मैसेज दिया.
इसमें उसने कहा, “इस्लाम के भाइयो. खास तौर पर मेरे कश्मीर के भाइयो. जहां-जहां तक मेरी आवाज पहुंचे. मैं ये कहना चाहता हूं कि इंटरनेशनल प्रेशर में पाकिस्तान की हुकुमत ने मेरी गिरफ्तारी का फैसला किया. जिसकी मुझे जानकारी दी गई. मैं ये समझता हूं कि ये सब कुछ इंटरनेशनल प्रेशर की वजह से ही हो रहा है. ”