बीजेपी विधायक के प्रचार वाहन से दिखाई गई तनाव फैलाने वाली सीडी, दर्ज हुआ गंभीर मुकदमा

बीजेपी विधायक के प्रचार वाहन से दिखाई गई तनाव फैलाने वाली सीडी, दर्ज हुआ गंभीर मुकदमा




नई दिल्ली: आपको याद होगा कि मुजफ्फर नगर दंगों के पीछे एक सीडी को जिम्मेदार ठहराया गया था. दंगे में करीब 400 मुसलमान और 200 से ज्याद हिंदू मारे गए थे और इसकी वजह संगीत सोम नाम के विधायक की एक भड़काऊ सीडी को बताया जा रहा था. अब यूपी में चुनाव आ गए हैं तो फिर उन्हीं संगीत सोम के प्रचार वाहन से विवादित वीडियो क्लिप दिखाए जब्त की गई है. संगीत सोम मेरठ के सरधना से विधायक हैं और दादरी कांड में दंगे भड़काने के आरोप भी संगीत सोम पर लगते रहे हैं. सोम की कर दो लोगों के खिलाफ आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज किया गया है. संगीत सोम के खिलाफ भी मामला दर्ज कर लिया गया है.

कुछ लोगों ने वाहन में लगी एलसीडी पर विवादित वीडियो क्लिप दिखाए जाने की प्रशासन से शिकायत की थी. क्लिप में संगीत सोम के विधायक बनने के बाद राजनीतिक सफर को इस तरह दिखाया गया है कि उनकी हीरो के तौर पर छवि उभरे. क्लिप में धर्म का हवाला देते हुए दंगे की खबरों, विधायक की गिरफ्तारी जैसी घटनाओं को दिखाया गया है. इसे प्रथम दृष्टया आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन माना गया है.

बताया गया है कि प्रचार वाहन यूपी 15 बीटी (टाटा) के जरिए वीडियो क्लिप को दिखाया जा रहा था. वाहन पर सवार व्यक्ति चंद्रशेखर सिंह और ड्राइवर वीरेंद्र सिंह के खिलाफ आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज किया गया है. इन से मीडिया सर्टिफिकेशन मॉनिटरिंग कमेटी का अनुमोदन प्रमाण पत्र मांगा गया जो वो नहीं दिखा पाए.

आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन आईपीसी की धारा 188 के तहत दंडनीय अपराध है. चंद्रशेखर सिंह और वीरेंद्र सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई की जा रही है.