ये घोषणा पत्र है या खाली डिब्बा. बीजेपी के पास देने को क्या कुछ नहीं बचा ?

ये घोषणा पत्र है या खाली डिब्बा. बीजेपी के पास देने को क्या कुछ नहीं बचा ?

ये यूपी चुनाव के लिए आज जारी हुए बीजेपी के घोषणा पत्र के 14 बिंदु हैं. लेकिन इन पर यूपी कैसे विश्वास करेगी? पढ़िए कितनी दम है इन बातों में

1- संवैधानिक तरीके से बनाएंगे राम मंदिर
अब तक असंवैधानिक तरीके से कोशिश कर रहे थे क्या? पूरे देश को आंदोलन की आग में झोंकते समय संविधान की बात क्यों नहीं मानी थी . अब ये नया तरीका कहां से लाए?
2- तीन तलाक के मुद्दे सरकार पार्टी बनेगी उससे पहले महिलाओं की राय लेगी
यूनीफॉर्म सिविल कोर्ट की बात करने वाले कानून क्यों नहीं बदलते, सुप्रीम कोर्ट में पक्ष रखने के लिए आपको वोट क्यों चाहिए? वैसे ही रख लेते किसने रोका था?
3- फ्री लैपटॉप और एक साल तक फ्री इंटरनेट
आप तो इस राजनीति के खिलाफ बातें करते थे. लैपटॉप और मोबाइल तो अखिलेश पहले ही दे चुके हैं. आपको वोट क्यों दे?
4- गन्ना किसानों को तुरंत भुगतान
इस बारे में कोर्ट का आदेश पहले ही आ चुका है तो आपको वोट देने की ज़रूरत क्यों है ?
5- किसानों से कर्ज पर ब्याज नहीं
अब तक क्यों नहीं किया, मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र और गोवा में क्यों नहीं किया? यूपी में करेंगे इसकी क्या गारंटी है? आपका रिकॉर्ड तो ऐसा नहीं है
6- हर घर में 24 घंटे बिजली, 100 यूनिट बिजली 3 रुपये की दर से
दिल्ली में यही काम केजरीवाल कर रहे थे तो आपने उन्हें करने नहीं दिया. परेशान करके रख दिया. आपको करना था तो दिल्ली में उनकी तारीफ करते. अपने राज्यों में करते. क्या गारंटी है कि यूपी आप करेंगे. आपकी हरकतें तो ऐसी नहीं हैं?
7- बंद होंगे जानवरों के अवैध कत्लखाने
शाह जी भारत बीफ का सबसे बड़ा एक्सपोर्टर है, उसपर रोक लगाने की बात क्यों नहीं की. खटीक और कसाई जो थोड़ा बहुत इक्का दुक्का बकरे काटते हैं उन्हें अवैध बनाकर लोगों की रोज़ी क्यों छीनेंगे . संगीत सोम जैसे नेताओं का मटन बिकवाने के लिए बंद करना है तो पहले जिन्हें वैध कहते हो उनका लायसेंस छीनो गरीब को मारने के लिए वोट क्यों दें?
8- जिलाधिकारी को माना जाएगा पलायन के लिये जिम्मेदार
यानी जो गरीब लोग रोज़ी रोटी की तलाश में दिल्ली मुंबई और कोलकाता जाते हैं उनके सिर पर पुलिस और जिलाधिकारी के जुल्म चालू करवाएंगे. भूखे मर जाएं क्या आपके प्यार में ? क्यों दें वोट?
9- 15 मिनट के अंदर घटनास्थल पर पहुंचे पुलिस, डायल 100 को हाईटैक करेंगे
अखिलेश यादवी की यूपी-100 की गाड़ियां नहीं देखीं क्या अमित शाह जी. वो भी इतने ही समय में पहुंच रही हैं. अपनी अक्ल भी तो लगा लेते
10- महिला सुरक्षा के लिए टास्क फोर्स
राजस्थान. एमपी. गोवा. महाराष्ट्र में से किस राज्य में फास्टट्रेक कोर्ट हैं? जिन राज्यों में पहले ही से हैं वो तो कोर्ट के आदेश से हैं. आप इसमें क्या करोगे.
11- यूपी में अमूल जैसी डेयरी बनाएंगे
अमित शाह जी को किसी ने पराग के बारे में नही बताया क्या. बहुत पहले से है. न अमूल आपने बनायी न पराग. आपने को कोओपरेटिव सेक्टर को खत्म ही किया.
12- माफियाओं पर लगाम के लिए अलग-अलग टास्क फोर्स
आधे माफियाओं को तो आपने टिकट दिए हुए हैं. पहले उनको ही बाहर निकाल लो टास्क फोर्स बाद में बनेगी, इसके लिए तो वोट देने की भी ज़रूरत नहीं है.
13- लड़कियों को ग्रेजुएशन तक मुफ्त शिक्षा
अभी तक क्यों नहीं दे रहे. एमपी में क्यों नहीं दे रहे. राजस्थान में क्यों नहीं दे रहे. दोनों राज्यों में लड़कियों की स्थिति किसी से छिपी नहीं है. महिला विरोधी अपराधों की हालत भी खराब है. लड़कियों के जीन्स तक पहनने पर रोक है एम पी के कॉलेजों में.
14. जीतने की क्षमता को देखकर टिकट देते हैं इसीलिए मुसलमान को टिकट नहीं दिया.
यानी आपके टिकट अमीरों, गुंडों और माफियाओं को ही मिलेंगे. शरीफ आदमी तो चुनाव जिता नहीं सकता. आपसे अच्छा तो केजरीवाल है साइकिल वाले के बेटे और पूर्व कमांडो को टिकट देता है.