दिल्ली में 5 रुपये में अनलिमिटेड बस यात्रा, एसी का किराया होगा 10 रुपये

दिल्ली में 5 रुपये में अनलिमिटेड बस यात्रा, एसी का किराया होगा 10 रुपये




नई दिल्ली: दिल्ली में सरकार प्रदूषण रोकने के लिए दूर की कौड़ी लाई है. सरकार जनवरी में बसों का किराया कौड़ियों के मोल कर देगी ताकि लोग बाइक पर चलना दो कौड़ी का समझें और बसों मे यात्रा करने लगें. अब सरकार जनवरी से डीटीसी और क्लस्टर बसों में यात्री किराए घटा दिया जाएगा.

1 जनवरी से दिल्ली में कहीं भी जाने के लिए सिर्फ 5 रुपये देने होंगे अगर आप एसी बस से यात्रा करेंगे तो किराया होगा 10 रुपये.

फिलहाल नॉन एसी बसों में दूरी के हिसाब किराया वसूला जाता था. इसमें 5, 10 और 15 रुपये किराया लिया जाता है. जितनी दूरी उतना किराया. वहीं एसी बसों में 10 से लेकर 25 रुपये तक किराया देना होता है. लेकिन जनवरी में इन बसों में सिर्फ 5 और 10 रुपये ही किराया देना होगा. बता दें कि नोएडा, गुड़गांव, फरीदाबाद, गाजियाबाद इत्यादि जाने वाली बसों पर भी इतना ही किराया लिया जाएगा.

सरकार का कहना है कि फिलहाल ये स्कीम अभी सिर्फ एक महीने के लिए. बाद में इसे आगे बढ़ा दिया जाएगा.

दरअसल, ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर सत्येंद्र जैन का कहना है कि जनवरी में खूब ठंड पड़ती है जिससे प्रदूषण भी बहुत अधिक होता है. इसलिए सरकार चाहती है कि जनता अधिक से अधिक पब्लिक ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल करे. यही वजह है कि किराया घटा दिया गया है.

डेली पास भी हुए करीब 50% सस्ते

सिर्फ किराया ही नहीं पास के दाम को भी घटा दिया गया है. इस स्कीम के तहत 75 फीसदी की छूट दी गई है. अभी नॉन एसी बसों के लिए 800 के पास बनते हैं तो वहीं एसी बसों के लिए 1000 रुपये का पास बनता है. लेकिन सरकार चाहती है कि इसे 250 रुपये कर दिया जाए. 250 रुपए का पास दोनों टाइप की बसों में चलेगा. सरकार ने 21 साल तक के स्टूडेंट्स और सीनियर सिटिजन के लिए फ्री बस पास देने का भी प्रपोजल बनाया है.

दरअसल, अभी नॉन एसी बसों में डेली पास 40 रुपये लगता है और एसी बसों में 50 रुपये का पास बनता है. लेकिन जनवरी में डेली पास सिर्फ 20 में बनाया जाएगा.

अभी स्टूडेंट्स को 100 रुपए का बस पास दिया जाता है जो कम से कम है. लेकिन सरकार की यह स्कीम पास हो जाती है तो फिर स्कूल व कॉलेज जाने वाले सभी स्टूडेंट्स को फ्री बस पास की फैसिलिटी मिलेगी. और यह पास पूरे 1 साल के लिए बनाया जाएगा. और 250 वाला बस पास हर महीने बनवाना पड़ेगा. सूत्रों का कहना है कि सरकार अब अधिकतर एसी बस को लाने की तैयारी में जुटी हुई है.