राहुल गांधी: अमीरों के 8 लाख करोड़ के कर्ज जनता के पैसे से माफ होंगे, मोदी ने गरीब आदमी कैशलेस और अमीर ब्लैकलेस कर दिया

राहुल गांधी: अमीरों के 8 लाख करोड़ के कर्ज जनता के पैसे से माफ होंगे, मोदी ने गरीब आदमी कैशलेस और अमीर ब्लैकलेस कर दिया

नई दिल्ली: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का अंदाज़ अब बेहद आक्रामक हो चला है. वो एक के बाद एक हमला बोल रहे हैं जिसका जवाब मोदी सरकार की तरफ से आ नहीं पा रहा. उन्होंने आज सीधे दिल में उतरने वाली बात कही. उन्होंने कहा कि नोटबंदी से आम आदमी कैशलेस हो गया और खास आदमी ब्लैकलैस हो गया . उसके पैसे सफेद हो गए. उन्होंने आरोप लगाया कि काले धन के खिलाफ की गई इस नोटबंदी के बाद केवल काले धन वालों का पैसा ही सफेद हुआ है.

राहुल ने कहा, पीएम मोदी ने 8 नवंबर को नोटबंदी के जरिये गरीबों के खिलाफ जंग छेड़ दी है. उन्होंने कहा, जो इमानदार लोग हैं, उन सबको नरेंद्र मोदी जी ने लाइन में खड़ा कर दिया है. राहुल गांधी ने लोगों से पूछा, ‘क्या आपने एक भी अमीर आदमी को लाइन में खड़ा पाया?’ राहुल ने आरोप लगाया कि आम लोगों को जहां बैंक से 2000 रुपये निकालने के लिए घंटों लाइन में लगना पड़ रहा है, वहीं भ्रष्टाचारी बैंकों में पिछले दरवाजे से जाकर 50-100 करोड़ रुपये निकाल रहे हैं.

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने केंद्र सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री के बयान हर दिन बदल रहे हैं. पहले यह काले धन के खिलाफ लड़ाई थी, फिर आतंकवाद और अब कैशलेस सोसाइटी बनाने की बात होती है. उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री कैशलेस सोसाइटी की बात करते हैं, इस कदम से सोसायटी तो अभी ही कैशलेस हो गई.’


राहुल गांधी ने कहा, ‘कुछ बड़े कारोबारियों ने बैंक से 8 लाख करोड़ का कर्ज ले रखा है, जो वे लौटा नहीं रहे. प्रधानमंत्री उनसे पैसा वसूल नहीं कर सकते हैं, क्योंकि उन्होंने ही उनकी मार्केटिंग की थी. इसलिए प्रधानमंत्री ने आपको लाइन में खड़ा करा दिया, ताकि बैंक काम कर सकें.’

राहुल गांधी के भाषण की बड़ी बातें-

जो ईमानदार लोग हैं उन्हें लाइन में लगा दिया… कोई भी बड़ा आदमी बैंकों की लाइन में नहीं दिख रहा… ये फैसला गरीब विरोधी… उद्योगपति दोस्तों को फायदा पहुंचाने के लिए नोटबंदी… बैंकों का घाटा पूरा करने के लिए नोटबंदी… जो चोर थे उन्होंने बैक डोर अपना पैसा सफेद किया… गरीबों का पैसा बैंकों में फंसा… काला धन खत्म करने का मकसद बताया गया था, लेकिन अब कैशलेस होने की बात हो रही…. गरीब लोग बैंकों की लाइनों में हैं और उन्हें कुछ नहीं मिल रहा… गरीबों के बचत के पैसे को सरकार ने छीन लिए… गरीबों के पैसे से पीएम अपने उद्योगपति दोस्तों का कर्ज माफ करेंगे.