उस ऊंची पहुंच वाले वकील को भी कोई नहीं बचा सका, अलमारियों से 2000 के नोट निकाल ले गए अफसर

उस ऊंची पहुंच वाले वकील को भी कोई नहीं बचा सका, अलमारियों से 2000 के नोट निकाल ले गए अफसर

नई दिल्ली: दिल्ली के ग्रेटर कैलाश इलाके में पुलिस की क्राइम ब्रांच ने सोमवार देर रात एक लॉ कंपनी में छापा मारा. यहां असमारी में भरे करोडों रुपये मिले हैं.. कंपनी का नाम टीएंडटी लॉ फर्म है. क्राइम ब्रांच के एसपी संजय सेहरावत के मुताबिक, जब्त किए गए रुपयों में से ढाई करोड़ से ज्यादा की रकम नई करंसी में है. रेड के वक्त कमरे थे बंद, अलमारी में ठूंस कर रखे गए थे पैसे. रिपोर्ट्स के मुताबिक, जिस वक्त पुलिस ने ऑफिस में रेड मारी तब कमरे बंद थे.  रेड के वक्त कंपनी का केयरटेकर भी वहां मौजूद था. पुलिस कंपनी के मालिक की तलाश कर रही है.  रेड में करीब 2 करोड़ रुपए नए नोट, बाकी का कैश 500 और 1000 के पुराने नोटों में था.  छापेमारी में दिखा कि कमरों की अलमारी में रुपए ठूंस कर रखे गए थे.

कौन है टंडन एंड टंडन लॉ फर्म के पीछे ?

टण्डन एन्ड टंडन के जिस लॉ फर्म पर छापेमारी की गयी और करीब 2 करोड़ 60 लाख के नए नोट के साथ करीब 13 करोड़ 65 लाख के नोट बरामद किए गए. अब तक की जांच में सामने आया है की करीब बीस दिन पहले भी इनकम टेक्स से रेड कर 1 करोड़ से ज्यादा रकम बरामद की थी. बताया जा रहा है जिस रोहित टंडन की लॉ फर्म पर छापा मारा गया उसने अक्टूबर में करीब 125 करोड़ की अघोषित आय इनकम टेक्स को जमा की थी, टंडन में 2005 में पहले एक ZEUS Law फर्म खोला उसके बाद साल 2014 में टंडन एन्ड टंडन लॉ फर्म खोली जीके वन में, टारगेट था दुबई और चंडीगढ़ में भी ये फर्म के ऑफिस हो. ये फर्म रियल स्टेट होटल्स, कारपोरेट के मामले देखने सुलझाने के लिए काम करती थी ऐसा बताया गया. खुद रोहित टंडन बड़े वकील तो नही पर सुप्रीम कोर्ट में भी पैक्टर्स कर चुके है. अक्टूबर में सिर्फ टंडन ही नही दिल्ली के कुछ और बड़े दलालों के यहा रेड की गयी थी, जिसमे सेक्स काण्ड में गिरफ्तार हो चूका पी एन सान्याल, खुद रोहित टंडन, एक दीपक तलवार, और OSA के केस का आरोपी संजय भंडारी भी शामिल था. जोर बांग में टंडन ने 2014 में दिल्ली में एक बड़ी मकान की डील की थी करीब 100 करोड़ की जो  12 हजार स्केयर फ़ीट का था. दिल्ली के पाश इलाके जोरबाग का ये मकान एसआर ग्रुप के फाउंडेशन रुईया के परिवार का था.