उत्तराखंड में नहर में बहते 500 और हज़ार के नोट, नोट लूटने के चक्कर में हाइवे जाम

उत्तराखंड में नहर में बहते 500 और हज़ार के नोट, नोट लूटने के चक्कर में हाइवे जाम

हलद्वानी: काठगोदाम से लामाचौड़ को जाने वाली सिंचाई नहर में सोमवार की सुबह 500-1000 के बहते नोटों को लूटने के लिए लोगों ने ठंडे पानी की नहर में ही छलांग लगा दी.दमुवाढूंगा से लेकर फतेहपुर तक करीब पांच किमी दायरे में जगह-जगह लोग नहर में घुसकर नोट बीनते रहे. जबकि सैकड़ों तमाशबीन नहर के आसपास खड़े रहे. पांच सौ रुपये से लेकर तीन लाख रुपये तक लोगों को मिलने की सूचना है. दिनभर नोटों के लिए लोगों में मारामारी रही. उधर खबर के मिलते ही पुलिस के लोग एलर्ट हो गए.

नोटों के चक्कर में लोगों का जबरदस्त हुजूम उमड़ने से कालाढूंगी रोड व दमुवाढूंगा रोड पर जाम लंबा जाम लग गया. . करीब छह बजे सिंचाई नहर के पास कठघरिया में रहने वाले कुछ मजदूरों ने 500-1000 के नोट बहते हुए देखे. मजदूरों ने नोट निकालने के लिए परिवार के साथ नहर में कूद लगा दी. कुछ ही देर में पूरे इलाके में यह खबर फैल गई. नोट बीनने के लिए चंबल पुल से लेकर फतेहपुर तक सैकड़ों लोग नहर में उतर गए. इसमें अधिकांश मजदूर तबके के व स्थानीय लोग थे. कई बार नोट बीनने के दौरान लोगों में धक्का-मुक्की व गाली-गलौज तक हो गई.

करीब नौ बजे तक पुलिस-प्रशासन को इसका पता लगा. अधिकारियों के साथ ही खुफिया एजेंसिया भी मौके पर पहुंच गई. सोशल मीडिया में खबर फैलने पर शहर समेत आसपास के ग्रामीण इलाकों के लोग भी हालात देखने दिनभर पहुंचते रहे. वहीं, दोपहर करीब 12 बजे काठगोदाम बैराज से नहर में पानी बंद कर दिया गया, लेकिन चार बजे तक नहर का कूड़ा हटाकर लोग नोट ढूंढने में जुटे रहे. नोटों के चक्कर में कई श्रमिक काम पर तो उनके बच्चे स्कूल नहीं गए. महिलाएं भी काम-धाम छोड़ नहर में नोट ढूंढने में जुटी रही.

500-1000 रुपये के नोट नहर में बहकर आने की सूचना करीब नौ बजे पुलिस को मिली. इस पर पुलिस बल व खुफिया एजेंसियों के कर्मचारियों को लगाया गया. नोट काठगोदाम क्षेत्र से नहर में बहाए जाने की संभावना है.