11 दूल्हे, 11 शादियां, 11 सुहागरात और 11 धोखों के बाद 12वीं ससुराल गई वो कमसिन फ्रॉड

11 दूल्हे, 11 शादियां, 11 सुहागरात और 11 धोखों के बाद 12वीं ससुराल गई वो कमसिन फ्रॉड




नोएडा: वो शादी करती थी. 3 रात दूल्हे के साथ बिताती थी और फिर पैक करने लगती थी सारा कीमती सामान. 11 दूल्हे,11 मंडप, 11 शादियां और 11 धोखे उसके स्कोर में शामिल थे. वो 11 बार ससुराल गई थी लेकिन इसबार वो जिस ससुराल गई है वहां से सिर्फ कोर्ट ही उसे रिहा कर सकता है.

इन 11 में से ज्यादा धोखे उन लोगों को मिले थे जो मालदार थे लेकिन किसी न किसी वजह से उनकी शादी थोड़ी मुश्किल होती थी. ऐसे लोगों को मेघा भार्गव नामकी ये लड़की निशाना बनाती थी जो विदुर होते थे, विकलांग होते थे या तलाक शुदा होते थे.

इन्दौर की रहे वाली इस लड़की के चक्कर में ये लोग आसानी से फंस जाते. उसके बाद ये लड़की सुहाग रात मनाती और 10 रातें पूरी होने से पहले रफू चक्कर हो जाती. 3 चार महीने मौज करती और फिर एक नया मुर्गा ढूंढने में लग जाती.

लेकिन इस लड़की से एक गलती हो गई. उसने केरल पुलिस के इलाके में जाकर कई वारदातें की. मेघा का आखिरी शिकार बना लॉरेन जॉटिस. लॉरेन ने पुलिस को बताया था कि शादी के एक हफ्ते के अंदर ही मेघा 15 लाख रुपये कैश और लाखों के जेवरात लेकर फरार हो गई थी.

लॉरेन की शिकायत के बाद केरल पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से लिया और टैक्निकल सर्विलांस के ज़रिए लड़की को नोएडा में ट्रेस किया. इसके बाद केरल से पुलिस ने नोएडा में डेरा जमा लिया. 1 महीने बाद केरल पुलिस ने नोएडा पुलिस की मदद से इसे धर दबोचा.

लॉरेन को शिकार बनाने के बाद मेघा अपनी बहन प्राची भार्गव और जीजा देवेंद्र शर्मा के साथ नोएडा पहुंची थी. यह लोग पिछले डेढ़ महीने से नोएडा के सेक्टर-120 स्थित आम्रपाली जोडिएक सोसायटी के जेड टावर के फ्लैट नंबर-1104 में रहकर ऐश की ज़िंदगी जी रहे थे.

11 परिवारों को लगाया लाखों का चूना

जिसके बाद नोएडा पुलिस की मदद से इन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. पूछताछ में पता चला कि लुटेरी दुल्हन मेघा अपनी बहन और जीजा की मदद से अभी तक 11 परिवारों को लाखों का चूना लगा चुकी है.

पुलिस ने बताया कि मेघा ने केरल में ही 5 शादियां की थी. लुटेरी दुल्हन का यह बदमाश गैंग अमीर लड़कों के साथ-साथ तलाकशुदा और विकलांग युवकों को भी टारगेट करता था. मेघा की खूबसूरती देखकर लड़के वाले तुरंत शादी के लिए तैयार हो जाते थे.

केरल पुलिस ने मांगी थी मदद

एसपी सिटी दिनेश यादव ने बताया कि लुटेरी दुल्हन के नोएडा में होने की जानकारी मिलते ही केरल पुलिस ने नोएडा पुलिस से मदद मांगी थी. जिसके बाद जाल बिछाकर फेज-3 पुलिस की मदद से केरल पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया.

कानूनी प्रक्रिया पूरी करने के बाद केरल पुलिस आरोपियों को अपने साथ ले गई.