बाज़ार में लाए जाएंगे जब्त गिए गए नोट, नोटों की किल्लत से बचने के लिए उठाया कदम

बाज़ार में लाए जाएंगे जब्त गिए गए नोट, नोटों की किल्लत से बचने के लिए उठाया कदम




सरकार नोटों की किल्लत को दूर करने के लिए जब्त किए गए नोटों को फिर से चलन में लाएगी. नोटबंदी के बाद ईडी, इनकम टैक्स विभाग और पुलिस के द्वारा करीब 100 करोड़ मूल्य के नए नोट जब्त किए गए हैं. इनमें ज्यादातर 2000 रुपए के नए नोट हैं.  ईडी ने अब यह साफ किया है कि इन नोटों को फिर से चलन में लाया जाएगा. ताकि नोटों की किल्लत को खत्म किया जा सके.

इस बीच प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अपनी सभी क्षेत्रीय ईकाइयों को को निर्देश जारी किया है कि जब्त सभी नए और पुराने नोटों को विभिन्न शहरों में खोले गए एजेंसी के बैंक खातों में डाल दिया जाए, ताकि इस तरह से नए नोट तत्काल चलन में आ जाएं. ईडी के डायरेक्टर करनाल सिंह ने बताया कि पहले उन्होंने निर्देश दिया था कि जब्त नोटों को अन्य जब्त सामग्रियों के साथ विभाग के स्ट्रॉन्ग रूम में रखा जाए. उन्होंने कहा, ‘ अब हम इन करेंसी नोटों को अपने बैंक खातों में डाल रहे हैं ताकि वे सर्कुलेशन में आ जाएं और आम जनता को असुविधा न हो.’

सरकार ने इनकम टैक्स विभाग से भी कहा है कि वह जब्त नोटों को बैंक खातों में जमा करे. अभी तक दस्तूर यह था कि सरकारी विभाग जब्त नोटों को तब तक अपने स्ट्रॉन्ग रूप में साक्ष्य के रूप में रखते थे, जब तक कि मामले पर कोई फैसला नहीं आ जाता था. इसके बाद इसे भारत सरकार के कंसोलिडेटेड फंड में डाल दिया जाता था. कई बार तो ऐसे मामलों में मुकदमा सालों तक चलता रहता है. नोटबंदी के देश में करीब 100 करोड़ मूल्य के नोट जब्त किए गए हैं. अकेले तमिलनाडु और कर्नाटक से ही 60 करोड़ रुपये के नए नोट जब्त किए गए हैं.