अपने ही मंत्री को लेकर दुविधा में मोदी, महात्मा गांधी और राज चिन्ह के अपमान का मामला

अपने ही मंत्री को लेकर दुविधा में मोदी, महात्मा गांधी और राज चिन्ह के अपमान का मामला

अपने साथी मंत्री की एक हरकत को लेकर मोदी दुविधा में फंस गए हैं. नोटबंदी के मसले पर सेल्फी अभियान में हिस्सा लेने के चक्कर में खेल एवं युवा मामलों के केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने महात्मा गांधी की तस्वीर को पांवों के नीचे रौंदा और भारत के राष्ट्रीय प्रतीक नोटों पर खड़े हो गए. इन नोटों पर भारत का सबसे सम्मानित निशान राजजिन्ह(अशोक की लाट ) बना है जिसका सम्मान करना संविधान में भी अनिवार्य किया गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 500, 1000 रुपए के पुराने नोट बंद करने के फैसले के समर्थन में गाेयल ने रविवार को दिल्‍ली में ‘जनता का मार्च’ निकाला। इसकी तस्‍वीरें उन्‍होंने ट्विटर पर भी शेयर कीं। इन्‍हीं में से एक तस्‍वीर में गोयल के एक हाथ में झाड़ू नजर आ रही है। उनके पैरों के नीचे 500, 1000 रुपए के पुराने नोटों का ढेर लगा है और गोयल उनपर झाड़ू लगाते दिख रहे हैं। गोयल की इन फोटो पर पैर रखकर खड़े हैं विजय गोयल के ट्वीट पर सूरज सिंह ने लिखा है, ”विजय गोयल जी, आप जिन कागज के टुकड़ों पर खड़े होकर अखबार और टीवी के लिए फोटो खिंचा रहे हैं, उनमें महात्मा गांधी की तस्वीर छपी है.. शर्मनाक!” सूरज की पोस्‍ट को आम आदमी पार्टी की चांदनी चौक से विधायक अल्‍का लाम्‍बा ने भी रिट्वीट किया है। लाम्‍बा ने लिखा है, ”देखने की बात है की यह नोट असली हैं या फिर नकली? नकली हैं तो कहाँ से आये? अगर असली और काला धन है,तो किसका है? बीजेपी सांसद विजय गोयल का है?”

गोयल दिल्‍ली के पहाड़गंज इलाके में व्‍यापारियों के बीच पहुंचे थे। अपने ट्वीट में उन्‍होंने लिखा कि ‘नाेटबंदी के फैसले का व्‍यापारियों व अन्‍य वर्गों ने खूब समर्थन किया है।” मगर गोयल की इस फाेटो पर यूजर्स ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। गीता नाम की यूजर लिखती हैं, ”न सिर्फ महात्‍मा गांधी, बल्कि वह (गाेयल) राष्‍ट्रीय प्रतीक चिन्‍हों का भी अपमान कर रहे हैं। क्‍या प्रधानमंत्री कार्यालय इसपर कोई कार्रवाई करेगा?”

गाेयल और विवादों का पुराना नाता रहा है। वह ट्विटर पर कई बार अपनी गलतियों की वजह से यूजर्स के गुस्‍से का शिकार हो चुके हैं। रियो ओलंपिक पदक विजेताओं की प्रधानमंत्री से मुलाकात के बाद मीडिया को जानकारी देते हुए खेल मंत्री की जुबान फिसल गई और वह ‘ओलंपिक पदक’ विजेताओं को ‘ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट’ बता गए। उन्होंने कहा, ‘रियो ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट्स पीवी सिंधू और साक्षी मलिक ने पीएम मोदी से मुलाकात की।’

इससे पहले आेलंपिक के दौरान वह एथलीट दूती चंद की फोटो को स्रबानी नंदा बताकर शेयर कर दिया था। 14 अगस्त को स्रबानी नंदा की प्रतियोगिता थी। वह 200 मीटर की दौड़ में हिस्सा ले रही थीं। इसके लिए विजय गोयल ने ट्वीट किया था। लेकिन उन्होंने फोटो गलत लगा दी।