अमेरिकी संसद में छा रहे हैं भारतीय, इस चुनाव में इन्होंने गाड़े झंडे

अमेरिकी संसद में छा रहे हैं भारतीय, इस चुनाव में इन्होंने गाड़े झंडे

न्यूयार्क: अपने राजनैतिक कौशल से भारतीयों ने अमेरिका में भी झंडे गाड़ दिए हैं. जहां एक भारतीय-अमरिकी को सीनेट में निर्वाचित होने में सफलता मिली है, वहीं चार अन्य प्रतिनिधि सभा (द हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटीव) के लिए चुने गए हैं. भारतीय मूल की कमला हैरिस कैलिफोर्निया से सीनेट में पहुंचीं.

वाशिंगटन से प्रमिला जयपाल, राजा कृष्णमूर्ति इलिनोइस से और रो खन्ना कैलिफोर्निया से प्रतिनिधि सभा के लिए निर्वाचित हुए हैं. इनके अलावा एमी बेरा कैलिफोर्निया से प्रतिनिधि सभा (द हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटीव) के लिए फिर चुने गए हैं.

हाल में हुए चुनाव में तुलसी गाबार्ड हवाई शहर से प्रतिनिधि सभा (द हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटीव) के लिए दोबारा चुनी गई हैं. ये सभी नेता डेमोक्रेटिक पार्टी से हैं और ये नेताओं के उभरते वर्ग का प्रतिनिधित्व करते हैं. ग्लोबल ऑर्गेनाइजेशन ऑफ पीपुल ऑफ इंडियन ओरिजिन के अध्यक्ष थॉमस अब्राहम ने कहा कि प्रतिनिधि सभा की कई सीटों के साथ सीनेट की सीट की जीत ने भारतीय समाज की राजनीतिक भागीदारी को बढ़ाया है. इन लोगों का अमेरिकी संसद में पहुंचना भारत और अमेरिका को एक व्यापार, निवेश, शिक्षा, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, सैन्य सहयोग और आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में दूसरे के करीब लाने में भी मदद करेगा है. कमला हैरिस की जीत महत्वपूर्ण इस वजह से है कि सीनेटर का चुनाव राज्य के सभी मतदाता करते हैं और उनका चुनाव 1.80 करोड़ आबादी वाले सबसे बड़े राज्य कैलीफोर्निया से हुआ है.

52 साल की कमला हैरिस की की मां चेन्नई से थी. कमला हैरिस पेशे से वकील हैं और वर्ष 2010 और 2014 में दो बार अटार्नी जनरल निर्वाचित हुई हैं.