जनार्दन रेड्डी को देना होगा शादी का एक-एक बिल, दबाव में आई मोदी सरकार ने नोटिस भेजा

जनार्दन रेड्डी को देना होगा शादी का एक-एक बिल, दबाव में आई मोदी सरकार ने नोटिस भेजा

बेंगलुरु: बेटी की शादी को बेसुमार खर्च को लेकर विवादों में रहे माइनिंग किंग और कर्नाटक के पूर्व मंत्री जनार्दन रेड्डी के बेल्लारी स्थित ऑफिस में आयकर विभाग ने छापे मारे हैं. रेड डालने पहुंचे अधिकारी दस्तावेजों को खंगाल रहे हैं. ये छापे जनार्दन रेड्डी की ओवुलापुरम माइनिंग कंपनी पर पर छापे मारे गए. खबर है कि रेड्डी ने घर पर छापे मारे जा सकते हैं.

जबरदस्त आलोचनाओं के बाद दबाव में आई मोदी सरकार ने आखिर जी जनार्दन रेड्डी की फिजूलखर्च शादी के मामलें में आयकर विभाग का नोटिस भेज ही दिया है. आलीशान शादी के पांच दिन बाद आयकर विभाग के तीन अफसर सोमवार शाम को रेड्डी के बेल्लारी स्थित घर पर पहुंचे और उन्हें नोटिस थमाया.

आयकर विभाग ने शादी पर हुए सभी खर्चों का ब्यौरा मांगा है. रेड्डी को 25 नवंबर तक जवाब देने को कहा गया है. सीबीआई की विशेष अदालत के आदेश के मुताबिक जनार्दन रेड्डी को सोमवार यानी 21 नवंबर तक ही बेल्लारी में रहने की इजाजत दी गई थी. वह फिलहाल अवैध खनन मामले में जमानत पर हैं.

इससे पहले इनकम टैक्स अधिकारियों ने शादी में सुविधाएं मुहैया कराने वाले वेंडरों से भी पूछताछ की. पिछले हफ्ते बुधवार को जनार्दन रेड्डी की बेटी की शादी में 50,000 लोगों ने शिरकत की थी. सरकार द्वारा नोटबंदी के ऐलान के बाद देश भर में नकदी संकट के बीच इस शादी में हुए अपार खर्च को लेकर काफी ज्यादा आलोचना की गई थी. बेंगलुरु में कई एकड़ में फैले एक भव्‍य स्‍थल पर यह विवाह समारोह आयोजित हुआ था.

यहां बॉलीवुड के कला निर्देशकों द्वारा डिजाइन किए गए सेट थे. शादी के लिए हम्पी के प्रसिद्ध विजय वित्थला मंदिर और तिरूमला तिरूपति मंदिर की प्रतिकृतियों के बड़े सेट बनाए गए थे. साथ ही दूल्हा और दुल्हन के घरों की प्रतिकृतियां भी बनाई गई थीं. रेड्डी के चेहरों के साथ हीलियम के गुब्बारे स्थल के ऊपर हवा में दिख रहे थे. विवाह समारोह में देश के विभिन्न हिस्सों के कलाकारों और डांसरों के अलावा ब्राजील के साम्बा डांसरों ने भी प्रस्तुतियां दीं. इन सबको लेकर पहले से ही रही चर्चाओं के बीच कुछ टैक्स अधिकारी शादी में गुपचुप तरीके से शामिल हुए थे.

सीबीआई और अन्य एजेंसियों को अभी रेड्डी की कथित तौर पर अकूत संपत्ति के बारे में पता लगाना बाकी है. 49-वर्षीय ‘माइनिंग किंग’ कभी कर्नाटक के सबसे ताकतवर लोगों में शुमार होते थे, और जुलाई, 2011 तक भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की बीएस येदियुरप्पा सरकार में मंत्री भी थे. वह गैरकानूनी माइनिंग (खनन) के एक मामले में तीन साल जेल में रहे, और उन्हें पिछले साल ज़मानत पर रिहा किया गया था.

देश में 500 और 1,000 रुपए के पुराने नोटों का चलन बंद होने के कारण देश में लोगों को हो रही परेशानी के बीच इस तरह भव्य तरीके से की गई शादी विवादों में आ गई. रेड्डी परिवार के लिए इस शादी के इंतज़ामात करने वालों का दावा था कि लगभग 30 करोड़ खर्च किया जा रहा है, और “सभी भुगतान ईवेंट मैनेजमेंट कंपनियों को चेक के ज़रिये दिया गया है, और हर खर्च का हिसाब रखा जा रहा है…” बताया गया कि जनार्दन रेड्डी ने शादी के बाद सभी बिल दिखाने का वादा किया है. शादी में शामिल होने वालों में नेतागण और कई सिलेब्रिटीज थे.