राहुल गांधी का ये नया पैंतरा यूपी में मचा देगा बवाल, ये हल्का फुल्का दावा नहीं ट्रंपकार्ड है

राहुल गांधी का ये नया पैंतरा यूपी में मचा देगा बवाल, ये हल्का फुल्का दावा नहीं ट्रंपकार्ड है

नई दिल्ली: बीजेपी नेता पप्पू के जोक बनाकर खुश हैं और राहुल गांधी  यूपी में 2017 में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए एक के बाद एक नए कार्ड खोल रहे हैं. राहुल गांधी ने अब अति पिछड़ी जातियों के लिए आरक्षण का वादा करके मुलायम सिंह के वोटबैंक में अच्छी खासी सेंध लगा दी है.

राहुल गांधी ने कहा कि अगर राज्य में वो सत्ता में आती है तो अबतक आरक्षण के लाभ से वंचित रही अति पिछड़ी जातियों को ओबीसी कोटा के भीतर ही अलग से आरक्षण दिया जाएगा. इस खबर का सीधा असर समाजवादी पार्टी के वोट बैंक पर पड़ेगा.

क्योंकि प्रदेश में दबंग यादव और दूसरी जातियां आरक्षण की मलाई खा रही हैं और सवर्णों से भी ज्यादा मजबूत हैं. अति पिछड़े इससे दुखी हैं. अगर पिछड़ों में मजबूत शक्तिशाली जातियों के खिलाफ अतिपिछड़ों को आरक्षण मिलता है तो इसका मतलब साफ है कि ब्राह्मण भी खुश होंगे और दलित भी. जाहिर बात है कांग्रेस की ये सोशल इंजीनियरिंग काम करेगी.

गौरतलब है कि शीला दीक्षित को मुख्यमंत्री उम्मीदवार बनाकर ब्राह्मण वोटों को अपने पाले में करने की कोशिश के बाद अब कांग्रेस की नज़र उत्तर प्रदेश के एक और बड़े वोट बैंक अति पिछड़ी जातियों पर है. उन्हें लुभाने के लिए ही ये आरक्षण कार्ड का गेम खेला है.

आपको बता दें कि दिल्ली में आज कांग्रेस मुख्यालय पर पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने यूपी से आए तक़रीबन 150 अति पिछड़ा वर्ग के नेताओं के साथ बैठक की. बैठक के बाद पार्टी ने ऐलान किया कि अगर वो राज्य में सत्ता में आती है तो ओबीसी के भीतर वैसी जातियों के लिए अलग से आरक्षण की व्यवस्था करेगी.

हालांकि पार्टी ने ये साफ़ नहीं किया है कि ओबीसी में शामिल किन जातियों को नयी आरक्षण व्यवस्था में शामिल किया जाएगा.