राहुल के रोड शो के बाद प्रियंका ऐसे भरेंगी दम, यूपी में सबसे आगे है कांग्रेस

राहुल के रोड शो के बाद प्रियंका ऐसे भरेंगी दम, यूपी में सबसे आगे है कांग्रेस




लखनऊ: पीके का प्लान कांग्रेस पार्टी में बढ़िया काम कर रहा है. पार्टी लगातार यूपी में माहौल बनाने में कामया ब रही है. राहुल गांधी की 26 दिनों तक किसान यात्रा और रोड शो से कांग्रेस का गंभीर अभियान राज्य के गांव गांव में पहुंचा. सबको लग रहा था कि राहुल गांधी के रोडशो के बाद माहौल ठंडा पड़ जाएगा और कार्यकर्ता फिर से ठंडे होकर बैठ जाएंगे. लेकिन प्लान इतना कमजोर दिखाई नहीं दे रहा. राहुल की यात्रा पूरी होते ही पहले कार्यकर्ताओं को टारगेट देकर काम में लगाया गया.  अब प्रियंका गांधी जनसभा और रोड शो लेकर सड़कों पर उतरने की तैयारी में हैं। उनका यूपी दौरा अगले महीने की 19 नवंबर तक शुरू हो सकता है। प्रियंका के रोडशो का मतलब है पार्टी की महिला कार्यकर्ताओं का अचानक सक्रिय हो जाना. उनके उत्साह में आने के साथ साथ प्रियंका को जादुई शख्सियत मानने वालों के मन में भी कांग्रे के लिए नयी ऊर्जा का प्रसार होगा .

चुनावी माहौल बदलने के लिए प्रियंका आई सामने

पार्टी सूत्रों के अनुसार कांग्रेस शीर्ष नेतृत्व ने विचार-विमर्श के बाद यह फैसला ले लिया। पार्टी के बड़े नेताओं की यह सोच थी कि विधानसभा चुनावों में जीत हासिल करने के लिए राहुल गांधी के साथ ही प्रियंका गांधी को भी उतारें ताकि चुनावी माहौल बदले। प्रियंका गांधी का रोड शो मेरठ से हापुड़ तक होगा। संभावना है कि पहले चरण में ही प्रियंका गांधी का मेरठ दौरा होगा।

संगठन से जुड़ी महिलाएं निभाएंगी अहम भूमिका

प्रियंका गांधी के यूपी में चुनावी दौरे पर निकलने को लेकर यूं तो पार्टी के कार्यकर्ताओं से लेकर नेता तक उत्साहित है, लेकिन सर्वाधिक उत्साह महिला कांग्रेस पदाधिकारियों में दिख रहा है। महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष सविता सोमानी और महानगर अध्यक्ष रूबीना फरीदी का कहना है कि प्रियंका गांधी के दौरे में संगठन से जुड़ी महिलाएं अहम भूमिका निभाएगी। प्रियंका गांधी का यूपी दौरा कांग्रेस को कितना फयादा पहुंचाए यह अब विधानसभा चुनाव होने के बाद ही पता चलेगा।