कानून पर भरोसा न रखने वाले अपराधी हैं मुलायम सिंह? पक्की थी 7 साल की जेल ?

कानून पर भरोसा न रखने वाले अपराधी हैं मुलायम सिंह? पक्की थी 7 साल की जेल ?

क्या मुलायम सिंह घपलेबाज़ हैं और उन्हें 7 साल की जेल होने वाली थी ? क्या भारत की न्याय व्यवस्था ने नहीं अमरसिंह की दलाली ने उन्हें जेल जाने से बचाया? मुलायम सिंह यादव ने जो बयान दिया उसका ये ही मतलब है कि देश के रक्षा मंत्री रहे और 3 बार यूपी जैसे सबसे अहम राज्य के मुख्यमंत्री रहे शख्स को कानून से कोई उम्मीद नहीं थी बल्कि उनका जेल जाना पक्का था. कल मुलायम सिंह ने कहा था कि अमर सिंह ने उन्हें जेल जाने से बचाया. ये अमर सिंह का मुलायम सिंह पर एहसान था.

अमरसिंह के इस बयान का रामगोपाल यादव ने भी जवाब दिया है उन्होंने पूछा है कि इसका मतलब क्या समझा जाए क्या सीबीआई और सुप्रीम कोर्ट को मैनेज किया गया? वो रक्षा मंत्री और तीन बार यूपी के सीएम रह चुके हैं.  उनको क्या किसी को भी ऐसी बात नहीं नहीं कहना चाहिए.

समाजवादी पार्टी वहीं हैं जहां अखिलेश हैं.  माइनस अखिलेश कुछ नहीं.  उन्होंने कहा कि अखिलेश जनता के बीच निकल जाएं, उनका समर्थन देखकर बाकी विरोधी साइड लाइन हो जाएंगे.

राम गोपाल ने कहा कि अखिलेश के का बार बार अपमान किया गया.  उनके धैर्य की नेता जी ने कई बार परीक्षा ली है.  मुलायम सिंह सार्वजनिक तौर पर उन्हें जलील करते हैं.

मुलायम सिंह यादव को अखिलेश की लोकप्रियता से जलन हो रही है. हर बाप चाहता है कि उसका बेटा आगे बढ़े लेकिन यहां ऐसा नहीं हो रहा. मुलायम और शिवपाल हीं बताएंगे कि अमर सिंह में क्या खूबी है.

अमर सिंह ने जादूगर की तरह मुलायम सिंह को समझा दिया कि उन्होंने केस में मदद की जबकि उन्होंने कोई मदद नहीं की. रामगोपाल ने कहा कि वो राज्य सभा की सीट नहीं छोड़ेंगे. अब मैं स्वतंत्र हूं.

रामगोपाल ने कहा कि मुलायम असंवैधानिक काम कर रहे हैं. मुझे या अन्य लोगों को पार्टी से बाहर निकालने में पार्टी संविधान का पालन नहीं किया जा रहा है.

राम गोपाल ने कहा कि उन्होंने समाजवादी पार्टी का रजिस्ट्रेशन कराया था.  पार्टी का रजिस्ट्रेशन कैसे हुआ,ये न मुलायम सिंह नहीं जानते और शिवपाल तो करा ही नहीं सकते.