केन्द्रीय मंत्रियों को बकबक करने पर पडी झाड़, रखना होगा मुंह बंद

केन्द्रीय मंत्रियों को बकबक करने पर पडी झाड़, रखना होगा मुंह बंद

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मंत्रियों से कहा है कि वो अगर अपना मुंह बंद रखें तो देश के लिए ठीक रहेगा, सर्जीकल स्ट्राइक पर ताबड़तोड़ बयान से नाराज मोदी ने बुधवार को हुई कैबिनेट मीटिंग में अपने मंत्रियों से कहा कि ज्यादा छाती न ठोकें और जिसका काम है उसे करने दें. मोदी ने कहा कि आर्मी को पता है कि उसे कब क्या बोलना है उसे ही बयान देने दें तो अच्छा है ।

एनडीटीवी के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय सेना द्वारा सीमा पार किए गए सर्जिकल स्ट्राइक पर बढ़-बढ़कर बोलने और सीना ठोकने पर चेतावनी दी है। सूत्रों के मुताबिक आज हुई मीटिंग में पीएम मोदी ने साफ कर दिया है कि स्ट्राइक पर वही लोग बोलेंगे जो इसके लिए अधिकृत किए गए हैं। 18 सितंबर को जम्मू-कश्मीर के उरी में सेना मुख्यालय पर हुए हमले में 19 जवान शहीद हो गए थे। जवाब में भारतीय सेना ने 28-29 सितंबर को पीओके में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया।

पाकिस्तान शुरू से सर्जिकल स्ट्राइक की बात से इनकार करता आ रहा है और इसे सीजफायर का उल्लंघन बता रहे है। वहीं दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और कांग्रेस नेताओं ने भी सरकार से सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत पेश करने के लिए कहा है। मिलेट्री सूत्रों के मुताबिक ड्रोन से शूट किए गए सर्जिकल स्ट्राइक का फुटेज पिछले हफ्ते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सौंप दिया गया है। इंडियन आर्मी ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) में घुसकर किए गए सर्जिकल स्ट्राइक का वीडियो जारी करने के लिए अपनी तरफ से हरी झंडी दे दी है। अब इसपर अंतिम फैसला प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ ऑफिस) को लेना है कि वीडियो को रिलीज किया जाए या नहीं।