बापू की आवाज़ में सुनिए पाकिस्तान और मुसलमानों पर उनकी राय, ऐसे रिश्ते चाहते थे बापू

बापू की आवाज़ में सुनिए पाकिस्तान और मुसलमानों पर उनकी राय, ऐसे रिश्ते चाहते थे बापू

महात्मा गांधी सिर्फ बातों के नहीं सचमुच महात्मा थे. उनका दिल बहुत बड़ा था. सबको एक मानना और सबसे प्यार करना. गांधी जयंती के मौके पर जहां भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव है वहीं महात्मा गांधी का सपना था कि हिंदुस्तान भौगोलिक रूप से भले ही बंट गया हो लेकिन दोनों देशों के दिल मिले रहें. महात्मा गांधी के ये ऑ़डियो संदेश ज़रूर सुनें, भारते के बंटवारे के बाद लो भविष्यकी ओर देखना चाहते थे. सुनिये भाषण का ऑ़डियो .

महात्मा गांधी ने पाकिस्तान के बंटवारे के बाद कहा था कि भूगोल में भले ही टुकड़े रहे लेकिन दोनों हुकूमतों के दिल मिल जाएं तो इससे क्या फर्क पड़ता है कि हुकूमत दो हैं या एक. भूगोल में कितनी भी सीमाएं हों क्या फर्क पड़ता है. जन्नत एक बीगीचे का नाम है. असल जन्नत तभी है सभी मिलजुलकर रहे. मेरा ख्वाब है हिंदु मुसलमान ईसाई पारसी सब मिलकर रहे..

पाकिस्तानियों को दिल साफ करना चाहिए. ऐसा नहीं कि दिल में कुछ हो मुंह पर कुछ हो, सभी धर्म के लोग भूल जाएं कि कभी हम दुश्मन थे. हम हिंदू हैं मुस्लिम हैं ईसाई हैं पारसी है पता ही नहीं चलेगा. सब शरीफ आदमी बनकर रहेंगे.

लोगों को ईश्वर से डरना चाहिए मैं ऐसे भारत को देखना चाहता हूं जिसमें लोग एक दूसरे से न डरें सिर्फ ईश्वर से डरें