भारत के इस चैनल पर लगा है झूठा स्टिंग करने का आरोप

भारत के इस चैनल पर लगा है झूठा स्टिंग करने का आरोप

अंबानी का सीएनएन न्यूज़ 18 एक बार फिर झूठी खबरें दिखाने को लेकर विवादों में है. चैनल ने दावा किया था कि उसके संवादादाता नें पाक अधिकृत कश्मीर के पुलिस अधीक्षक को उनका सीनियर बनकर फोन करने का दावा किया था. चैनल ने दावा किया था कि इस पुलिस अधिकारी ने सर्जीकल स्ट्राइक की पूरी कहानी संवाददाता को सीनियर अफसर समझकर बयां कर दी थी. लेकिन पाकिस्तान ने  शुक्रवार (7 अक्टूबर) को दावा किया  कि प्रमुख भारतीय चैनल ने एक पाकिस्तानी अधिकारी का एक ‘‘फर्जी’’ साक्षात्कार प्रसारित किया. पाकिस्तान के उस अधिकारी ने साक्षात्कार में सीमा पार आतंकी शिविरों में भारत के सर्जिकल स्ट्राइक की पुष्टि की थी. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय का आरोप है कि सीएनएन न्यूज 18 ने पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) के पुलिस अधिकारी गुलाम अकबर का ‘‘फर्जी’’ साक्षात्कार प्रसारित किया जिसमें अधिकारी ने भारत के सर्जिकल स्ट्राइक की कथित तौर पर पुष्टि की. मंत्रालय ने एक बयान में बताया, ‘संवाददाता ने खुद को पंजाब पुलिस के महानिरीक्षक के तौर पर पेश किया.’ मंत्रालय ने आगे कहा, ‘अकबर ने फोन पर ऐसी कोई बात करने से साफ इंकार किया है और तो और भारतीय टीवी चैनल की रिकॉर्डिंग में आवाज भी उनकी (अकबर की) नहीं है.’

बयान में मंत्रालय ने आगे कहा है कि घरेलू राजनीतिक लाभ के लिए कहानियों को गढ़ने के उद्देश्य से फर्जी कार्यक्रम का प्रसारण करने के लिए भारतीय मीडिया की पाकिस्तान निंदा करता है. इसमें कहा गया है, ‘यह साफ संकेत है कि भारत में कुछ वर्ग सर्जिकल स्ट्राइक के झूठे भारतीय दावे को किसी भी तरह से सच साबित करने के लिए जी-तोड़ कोशिश कर रहे हैं.’ बयान में कहा गया है, ‘हमें उम्मीद है कि सीएनएन संबद्ध टीवी चैनल के साथ मामले को अत्यंत गंभीरता से लेगा और चैनल के खिलाफ कार्रवाई करेगा. हम कथित टीवी चैनल के खिलाफ आवश्यक कानूनी कार्रवाई करने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं.’

गौरतलब है कि सीएनएन न्यूज 18 की खबर में कहा गया था कि अकबर ने माना है कि लक्षित हमले हुए. उरी में सैन्य मुख्यालय पर हमले में 19 भारतीय जवानों के शहीद होने के बाद पाकिस्तानी भूभाग में किए गए भारतीय सर्जिकल स्ट्राइक को पाकिस्तान ने ‘‘झूठा’’ एवं ‘‘गढ़ा हुआ’’ बताया है. गौरतलब है कि भारतीय सेना ने 26-27 सितंबर की रात को एलओसी पार कर पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक किए. इस दौरान सेना ने सात आतंकी ठिकानों को निशाना बनाया. भारत के डीजीएमओ ले. रणबीर सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके जानकारी दी थी कि भारतीय सेना ने पीओके में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक किया है. डीजीएमओ ले. जनरल रणबीर सिंह ने बताया था कि भारत ने एलओसी पार करके आतंकी ठिकानों पर हमले किए हैं और कई आतंकियों को मार गिराया है. डीजीएमओ ने बताया था, ‘ये सभी आतंकी भारत में घुसपैठ करने के लिए एलओसी पर इकट्ठा हुए थे. वे कश्मीर में घुसकर भारत के कई अन्य शहरों में हमला करना चाहते थे. इन ऑपरेशन को रोक दिया गया था क्योंकि इनका उद्देश्य आतंकियों को मार गिराना था. मैंने पाकिस्तानी डीजीएमसी को फोन करके अपनी चिंता साझा की और सर्जिकल हमले की भी जानकारी दी.’

इससे पहले भी इस चैनल का कश्मीर संवाददाता इस्तीफा दे चुका है उसने आरोप लगाया था कि चैनल में टॉप पर बैठे लोग मनगढ़ंत खबरें बनाते थे और उन्हें कवर करने को कहते थे.