पाकिस्तान के क्वेटा में 33 मरे, पुलिस ट्रेनिंग सेंटर पर आतंकी हमला, 2 हमलावर भी मरे

पाकिस्तान के क्वेटा में 33 मरे, पुलिस ट्रेनिंग सेंटर पर आतंकी हमला, 2 हमलावर भी मरे

क्वेटा: पाकिस्तान के क्वेटा में एक पुलिस ट्रेनिंग सेंटर पर बंदूकधारियों के हमले में कम से कम 33 कैटेट्स के मारे जाने और कई के घायल होने की खबर है. एएफपी, समेत कई अलग अलग अजेंसियों  ने ये खबर दी है.

स्थानीय टीवी चैनलों के मुताबिक दो धमाकों की आवाजें भी सुनी गईं. अधिकारियों के मुताबिक कई कैडेटों को गोलियां लगीं. अन्य कई कैडेट छत से कूदने और दीवार पर चढ़ने के दौरान जख्मी हो गए. सरकारी प्रवक्ता ने पहले झूठ बोला कि हमले के वक्त करीब 250 कैडेट ट्रेनिंग सेंटर के अंदर मौजूद थे, जिनमें से अधिकांश को बाहर निकाल लिया गया है. बलूचिस्‍तान के गृह मंत्री मीर सरफराज अहमद बुगती ने कहा कि दो हमलावर मारे गए.

बलूचिस्तान के पुलिस प्रमुख अहसान महबूब ने संवाददाताओं को बताया कि चार बंदूकधारियों ने उपनगरीय इलाके में स्थित ट्रेनिंग सेंटर पर हमला बोल दिया. वहीं सेना के एक बयान में हमलावरों की संख्या छह बताई गई.

हमलावरों ने ट्रेनिंग सेंटर के हॉस्टल में घुसने का प्रयास किया, जहां गार्डों ने उन्हें रोकने की कोशिश की और इसके बाद गोलीबारी शुरू हो गई. महबूब ने बताया कि पुलिस और अर्धसैनिक बलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है और हमलावरों को खत्म करने और कैडेटों को बचाने का अभियान जारी है.
यह हमला ऐसे समय में हुआ है जब इससे चंदे घंटे पहले ही क्‍वेटा के दक्षिण में तकरीबन 145 किमी दूर सूरब कस्‍बे में बंदूकधारियों ने दो कस्‍टम अधिकारियों की गोली मारकर हत्‍या कर दी और तीसरे को घायल कर दिया. स्‍थानीय पुलिस के एक प्रवक्‍ता जैनुल्‍लाह बलोच ने बताया कि मोटरसाइकिल पर सवार बंदूकधारियों ने कस्‍टम अधिकारियों को निशाना बनाया. दोनों अधिकारियों की मौके पर ही मौत हो गई. तीसरे शख्‍स को गंभीर हालत में अस्‍पताल पहुंचाया गया है.

इससे पहले सोमवार सुबह मोटरसाइकिल पर सवार दो बंदूकधारियों ने उत्‍तरी खैबर पख्‍तूनखवा प्रांत के पुलिस इंटेलीजेंस ऑफीसर की गोली मारकर हत्‍या कर दी. स्‍थानीय पुलिस अधिकारी खालिद खान ने बताया कि घटना के बाद हमलावर फरार हो गए. इस हमले की पाकिस्‍तानी तालिबान ने जिम्‍मेदारी ली है. इस आतंकी समूह के प्रवक्‍ता मोहम्‍मद खुरासानी ने एक बयान में कहा कि हमलावर घटना को अंजाम देने के बाद सुरक्षित ठिकानों पर लौट आए.