रेस्त्रा ने कहा – यहां सड़कछाप लोगों का घुसना मना है

रेस्त्रा ने कहा – यहां सड़कछाप लोगों का घुसना मना है




हाल ही मे सोशल मीडिया पर बयान आने के बाद बदनाम हुए कोलकाता का रेस्ट्रां मोकाम्बो किसी भी हालत में झुकने को तैयार नहीं है. मोकाम्बो ने कहा है कि वो अपने यहां सड़कछाप लोगों को इजाजत नहीं देते. आपको बता दें कि मोकांबो वही रेस्त्रां है जिसने हाल ही में एक महिला के ड्राइवर को अंदर घुसने से रोक दिया था . इसके बाद महिला ने सोशल मीडिया पर ये पूरा मामला डाल दिया था. महिला ने आरोप है कि कोलकाता के पार्कस्ट्रीट स्थित रेस्तरां में एक शख्स को सिर्फ इसलिए खाना खाने से रोका गया क्योंकि उसके कपड़े ठीक नहीं थे और वह पेशे से ड्राइवर था. दिलाशी हिमानी नाम की महिला ने फेसबुक पोस्ट में इस घटना के बारे में लिखा है. महिला ने 10 सितंबर की अपनी पोस्ट में बताया कि पिछले रात कोलकाता में मेरी आखिरी रात थी तो मैंने कोलकाता के पार्क स्ट्रीट स्थित एक रेस्तरां में खाना खाने का सोचा. मैं मनीष भैया (ड्राइवर) के साथ रेस्तारां गई.

महिला ने ये लिखा

“होटल पहुंचने के बाद हमने रेस्तरां स्टाफ से टेबल देने के लिए कहा. उसने हमें 15 मिनट वेट करने को कहा. हम टेबल मिलने का इंतजार कर रहे थे, मेरे साथ मनीष भैया भी थे. तभी स्टाफ ने साथ मनीष भैया को देखा और मेरी तरफ आया और कहा- मैडम टेबल तैयार होने में 45 मिनट लगेंगे. मैं टाइम को लेकर थोड़ा कन्फ्यूज थी, मैंने उससे कहा कि पहले तो आप ने 15 मिनट के लिए कहा था.

मैंने देखा कि और लोग आ रहे थे और टेबल पर बैठ रहे थे, मैंने स्टाफ से पूछा कि आप मुझे टेबल क्यों नहीं दे रहे हैं तो उन्होंने कहा कि मैडम हम आपको टेबल नहीं दे सकते. मैंने पूछा- लेकिन क्यों? स्टाफ बोला- आपके साथ कौन है? वो मनीष भैया के लिए कह रहा था. उन्होंने ढंग के कपड़े नहीं पहने हैं. यह एक अच्छा रेस्तरां हैं और हम ऐसे टेबल नहीं दे सकते हैं.

मनीष भैया स्टाफ की बातों को समझ गए और उन्होंने कहा, ‘दीदी हम नहीं खाएंगे आप खाना खा लीजिए ना. मैंने रेस्तरां कर्मी से मैनेजर को बुलाने के लिए कहा. कुछ देर बाद एक दूसरा आदमी आया. मैंने उससे पूछा- इन्हें (मनीष भैया) अंदर क्यों नहीं आने दिया जा रहा है. उस शख्स ने कहा कि मेरे स्टाफ ने मुझे बताया कि उन्होंने शराब पी हुई हैं. मैने उनसे कहा कि आप यह कैसे कह सकते हैं कि उन्होंने शराब पी है. वो सुबह से मेरे साथ बिना खाए हैं तो शराब कैसे पी सकते हैं. झड़प के बाद हम रेस्तरां से निकल गए.”

 

रेस्त्रां की बदतमीजी

इसके बाद सोशल मीडिया पर इस रेस्त्रां के खिलाफ जबरदस्त गुस्सा दिखाई दिया , लोगों ने इसे नस्लवादी, और भेदभाव करने वाला कहा. विवाद चल ही रहा था कि रेस्ट्रां ने सबको अपने ट्वीट से चौका दिया. ट्वीट मे रेस्ट्रां ने लिखा – हम सड़कछाप लोगों को अपने रेस्त्रां में घुसने नहीं देते. महिला के लिए रेस्त्रां ने अपने ट्वीट में कहा- डियर सबीना, हम फाइनडाइन रेस्त्रां हैं. कृपया जब पधारें तो खुद को देख लें. अच्छे कपड़ों में आएँ
और रईस दिखें. अंग्रेज़ी में बात करें. हम खुशी खुशी आपको स्थान देंगे. हम भारतीय भाषा बोलने वाले गरीब लोगों को इजाजत नहीं देते. ऐसे लोग हमारा और हमारे मेहमानों का पूरा अमुभव खराब कर देते हैं.

महिला का जवाब

रेस्त्रां के ट्वीट पर महिला ने भी कड़ा जवाब दिया. महिला ने लिखा – अरे वाह- आपको तो इंग्लैंड में रेस्त्रां चलाना चाहिए. आप गरीब लेकिन दिल के अमीर लोगों के देश में फिट नहीं होते