मुठभेड़ की तस्वीरें ,कश्मीर में 17 जवान शहीद, 10 घायल, चार आतंकवादियों का वध,

मुठभेड़ की तस्वीरें ,कश्मीर में 17 जवान शहीद, 10 घायल, चार आतंकवादियों का वध,

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के उरी सेक्टर में एलओसी के पास स्थित आर्मी हेडक्वॉर्टर पर रविवार को हुए आतंकी हमले में 17 जवान शहीद हो गए. एक सैन्य अधिकारी ने यह जानकारी देते हुए बताया कि सैन्य बलों की जवाबी कार्रवाई में हमला करने वाले सभी चार आतंकियों को मार गिराया. इसके साथ ही उन्होंने बताया कि कुछ और आतंकियों के छुपे होने की आशंका के मद्देनजर अभी इलाके में तलाशी अभियान चल रहा है, हालांकि फिलहाल एनकाउंटर खत्म हो गया है. हाल के सालों में यह सबसे बड़ा हमला बताया जा रहा है. गृह मंत्रालय ने सभी एयरपोर्ट्स को सुरक्षा के मद्देनजर अलर्ट जारी किया है.

इस हमले में 10 जवानों के घायल होने की भी खबर है, जिन्हें एयरलिफ्ट कर हॉस्पिटल ले जाया गया है. गृह मंत्रालय का कहना है कि हमला लश्कर ए तैयबा ने किया है. कुछ इंटरसेप्ट से स्पष्ट हो रहा है कि यह लश्कर का फ़िदायीन दस्ता था. केंद्रीय गृह मंत्रालय के मुताबिक, पाकिस्तान अपनी तरफ़ से लगातार आतंकवादियों के दस्ते भारत भेज रहा है. आर्मी चीफ जनरल दलबीर सिंह और रक्षा मंत्री पर्रिकर घाटी पहुंच रहे हैं.

This slideshow requires JavaScript.

जिस वक्त यह हमला किया गया है, उस वक्त सुरक्षा का स्तर थोड़ा नीचे होता है, क्योंकि गार्ड बदलने का समय होने वाला होता है. माना जा रहा है कि आतंकवादी तार काट कर हेडक्वॉर्टर में घुसने में कामयाब हुए हैं. सूत्रों ने बताया कि हमले के समय डोगरा रेजीमेंट के जवान एक तंबू में सोए हुए थे जिसमें विस्फोट के चलते आग लग गई. आग पास स्थित बैरकों तक भी फैल गई.

उरी शहर जम्मू-कश्मीर के बारामूला जिले में है  गृह मंत्री ने अपना रूस का दौरा रद्द कर दिया है. ट्वीट कर उन्होंने बताया कि कश्मीर के हालात के चलते उन्होंने दौरा रद्द किया है. माना ये जा रहा है कि गृह मंत्री अपना अमेरिका का दौरा भी रद्द करेंगे.

जानकारी यह भी है कि पाकिस्तान अपनी तरफ़ से कोशिश कर रहा है कि कश्मीर का मसला लगातार हेडलाइन में बना रहे. यूनाइटेड नेशन असेम्ब्ली में वह इस मुद्दे को बढ़- चढ़कर उठाना चाहता है. “पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ़ 21 सितम्बर को UN में बोलेंगे, तब तक इसी तरह हमले होते रहेंगे,” एक सीनियर अफ़सर ने एनडीटीवी इंडिया को बताया.

उनके मुताबिक़, पुंछ में हुआ हमला भी उसी का नतीजा था. वैसे उस हमले की जांच में साबित हो गया है कि मारे गए आतंकवादी पाकिस्तान से आए थे. उनके जीपीएस रूट और उनकी पहचान तक मुक़र्रर हो गई है. जांच में सामने आया है कि “पुंछ का  हमला भी लश्कर ने ही किया था.”

यूएन में भारत की और से विदेश मंत्री सुषमा स्वराज 26 सितम्बर को बोलेंगी. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, “आतंकवादियों ने शिविर के अंदर प्रवेश किया. अभी भी गोलीबारी और विस्फोट जारी है.” उन्होंने इस हमले को सुबह साढ़े पांच बजे अंजाम दिया

सौजन्य एनडीटीवी, तस्वीरें अलग अलग एजेंसियों के सौजन्य से