दूसरी की बच्ची पर दरिंदगी का बोझ, बेतहाशा बेंत बरसाए

दूसरी की बच्ची पर दरिंदगी का बोझ, बेतहाशा बेंत बरसाए

दुनिया कितनी भी आगे चली जाए जंगल के कायदे इनसान का पीछा नहीं छोड़ते, दूसरी कक्षा में पढ़ने वाली इस मासूम बच्ची की पीठ पर ये निशान उसी इन्सानी बहशी रवैये की निशानी है. बैंगलौर में एक बच्ची को उसकी ट्यूशन टीचर ने इतनी बेरहमी से पीटा कि उसे देखकर पुलिस भी हैरान रह गई. बच्ची का जुर्म बस इतना ही था कि उसने अपना होमवर्क पूरा नहीं किया था. बस इतनी से बात से नाराज होकर जालिम टीचर ने मासूम बच्ची को जानवरों की तरह लेदर की बेल्ट से पीटा.

 

दिल दहला देने वाली यह वारदात बंगलुरु के नेलमंगला इलाके की है. जहां सुभाष नगर में सात वर्षीय भावना सेंट जोसेफ स्कूल की कक्षा दो में पढ़ती है. वह अपने पड़ोस में ही रहने वाली लता नामक एक महिला से ट्यूशन भी पढ़ती थी. भावना पिछले एक साल से लता से ट्यूशन क्लास ले रही थी.

मंगलवार की रात भावना ने अपना ट्यूशन होमवर्क नहीं किया था. और वह ऐसे ही ट्यूशन चली गई. उसकी इतनी सी बात पर ट्यूशन टीचर लता भड़क उठी. और उसने गुस्से में आकर बेरहमी की सारी हदें पार करते हुए उस मासूम बच्ची को लेदर के बेल्ट से जमकर पीटा.

पिटाई के बाद मासूम भावना रोते हुए अपने घर आई. और परिजनों को दर्दनाक आपबीती सुनाई. उसके जिस्म पर गहरे जख्मों के निशान देखकर घरवाले सकते में आ गए. बच्ची की हालत देखकर मां कलेजा मुंह को आ गया. पिता ने मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस के पास जाने का फैसला किया.

परिजन पीड़ित बच्ची को लेकर पुलिस के पास जा पहुंचे. पुलिस वाले भी मासूम बच्ची के शरीर पर बेल्ट से पिटाई के निशान देखकर दंग रह गए. पुलिस ने पूरी घटना सुनने के बाद फौरन आरोपी महिला टीचर लता के खिलाफ बाल शोषण का मुकदमा दर्ज कर लिया.

पुलिस को छानबीन में पता चला कि लता की यह पहली करतूत नहीं है. इससे पहले भी वह बच्चों के साथ हैवानियत का खेल खेलती रही है. आरोपी टीचर लता हमेशा ही अपने छात्रों को जानवरों की तरह मारती पीटती थी. पुलिस ने आरोपी टीचर के घर दबिश दी लेकिन वह इससे पहले ही घर से फरार हो गई.