इसे पुलिस में किसने भर्ती किया? शरीफ इसके सामने पानी भरेंगे

इसे पुलिस में किसने भर्ती किया? शरीफ इसके सामने पानी भरेंगे

पुलिस के बारे में आम लोगों की राय ज्यादातर नकारात्मक ही होती है. इसकी वजह है पुलिस का सरकार की तरफ से लोगों के खिलाफ दमन में इस्तेमाल होना. इसके अलावा पुलिस के लोग करप्शन भी बीच सड़क पर ही करते हैं. लोगों का मानना है कि पुलिसवाले सिर्फ वही काम करना पसंद करते हैं जिसमें ऊपर की कमाई हो. लेकिन लेकिन हाल में वायरल हुई एक पुलिसवाले की तस्वीर थोड़ी देर के लिए ही सही पुलिस वालों के बारे में रवैया ज़रूर बदलेगी . हो सकता है आपको लगे कि सभी पुलिसवाले एक जैसे नहीं होते. आइए जानें क्या है इस पुलिसवाले की वायरल तस्वीर का मामला.

यही है वो फेसबुक पोस्ट

बारिश में नंगे पैर ड्यूटी करता पुलिसवाला

हाल ही में हरियाणा पुलिस में तैनात राकेश कुमार को सोनीपत की गलियों में भारी बारिश के दौरान नंगे पैर ही काम करते देखा गया. इतनी भारी बारिश में सड़क पर बिना जूते के ही एक पुलिसवाले को काम करते देखकर लोगों की हैरानी की सीमा न रही. कम से कम पुलिस से तो लोग अपने कर्तव्यों के निर्वाहन के लिए इतने समर्पण की उम्मीद तो नहीं ही करते हैं. भारत में सरकारी नौकरियों में लोगों द्वारा इतनी जिम्मेदारी और समर्पण के साथ काम करने का नजारा कम ही देखने को मिलता है.




भारी बारिश सड़क पर नंगे पैर ही अपनी ड्यूटी निभाने वाले राकेश कुमार की ये तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई. राहुल शर्मा नामक शख्स ने राकेश की तस्वीर और उनकी कहानी को फेसबुक पर शेयर किया और देखते ही देखते ये वायरल हो गई. इस पोस्ट को अब तक 10 हजार से ज्यादा बार शेयर किया जा चुका है. 

एफबी पोस्ट से सामने आई कहानी

राहुल ने जब राकेश से बिना जूतों के ही बारिश में काम करने की वजह पूछी तो उन्होंने कहा, ‘सर कल भी ड्यूटी पर आना है, जूते गीले हो गए तो कल क्या पहनूंगा, मेरे पास एक ही बूट है.

एक पुलिसवाले की अपने ड्यूटी के प्रति ऐसी ईमानदारी, लगन और समर्पण की भावना ने लोगों का दिल जीत लिया और लोगों ने उनकी जमकर तारीफ की. इस पोस्ट शेयर को करने वाले शख्स ने भी खराब मौसम और विपरीत परिस्थितयों के बावजूद अपने कर्तव्यों के निर्वाहन के लिए राकेश कुमार की मेहनत और लगन की तारीफ की. यहां तक कि बारिश से खुद को बचाने के लिए उनके पास छाता तक नहीं था.

राकेश कुमार की कहानी न सिर्फ विपरीत परिस्थितियों में भी अपनी ड्यूटी निभाने वाले पुलिसवाले की कहानी है बल्कि उनके पास सिर्फ एक जूते का होना इस देश के आम पुलिस वालों का स्थिति बयां करता है.