बिहार में सोशल मीडिया के ज़रिए दंगा भड़काने की कोशिश, आगजनी और तनाव

बिहार में सोशल मीडिया के ज़रिए दंगा भड़काने की कोशिश, आगजनी और तनाव




सारण के मकेर में आपत्तिजनक फोटो और वीडियो वायरल होने के बाद कई इलाकों में तनाव बढ़ गया। एक पक्ष के लोगों ने आरोपित के घर पर हमला बोल दिया। घर में तोड़फोड़ और आगजनी की। आक्रोशित लोगों के डर से आरोपित के घर के लोगों को भागना पड़ा।

शुक्रवार की सुबह से ही बवाल बढ़ने लगा। मकेर के राजेन्द्र विद्या मंदिर परिसर में स्थानीय युवक जुटे। वे बैठक कर ही रहे थे कि भेल्दी, परसा, अमनौर व निकटवर्ती मुजफ्फरपुर जिले के गांवों के युवकों की टोली यहां पहुंचने लगी। स्कूल परिसर से निकलकर युवकों का जत्था महावीर चौक पर पहुंचा। उन्होंने टायर जला आगजनी की। बाजार की दुकानों को बंद करा दिया। जैसे-जैसे दिन चढ़ता गया, विरोध करने वालों की संख्या में इजाफा होता गया।

हुजूम बनाकर निकले युवक

युवकों का एक बड़ा जत्था हाथों में लाठी-डंडे लिये महावीर चौक से हुजूम बनाकर निकला और आरोपित युवक के घर दक्षिण टोला पहुंच गया। वहां पहुंचते ही तोड़फोड़ शुरू हो गयी। घर के सामानों को तितर-बितर कर दिया गया और खिड़की व दरवाजे तक उखाड़ दिये गये। घर के सभी पुरुष फरार थे और मौजूद महिलाएं चीखती-चिल्लाती रहीं। लेकिन उनकी मदद में गांव का एक भी व्यक्ति आगे नहीं आया। सभी मूकदर्शक बने रहे। अपनी भड़ास निकाल उपद्रवी युवक वहां से चले गये और एक घंटे बाद दुबारा पहुंच घर में आग लगा दी, लेकिन पक्के का घर होने के चलते नहीं जला तो उपद्रवी युवकों ने घर के सामानों को बाहर निकाल आग के हवाले कर दिया। हालांकि इसके पहले महिलाएं भी कहीं अन्यत्र चली गई थीं।

तीन घंटे तक मकेर बाजार व गांवों में प्रदर्शन

वायरल वीडियो को ले गुस्साये युवाओं की टोली करीब तीन घंटे तक मकेर बाजार व आसपास के गांवों में घूम-घूम कर प्रदर्शन करती रही। कई घरों के छप्पर तोड़े तो कई घरों पर ईंट-पत्थर फेंके। हालात यह थे कि युवकों का जुलूस जिधर से भी गुजरता उधर के लोग अपने घरों का दरवाजा बंद कर लेते। वे आरोपित युवक की गिरफ्तारी और पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते।

पूरा इलाका पुलिस छावनी में तब्दील

मचे बवाल के बाद पूरा इलाका पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। डीएम के आश्वासन के बाद सड़क मार्ग तो खुल गया पर दोनों पक्षों में तनाव की स्थिति को देखते हुए मकेर से लेकर छपरा तक शांति बहाली के प्रयास में पुलिस व प्रशासनिक अफसर जुटे हुए हैं। मकेर में डीएम दपक आनंद व एसपी पंकज कुमार राज के अलावा मुजफ्फरपुर आईजी सुनील कुमार, सारण कमिश्नर नर्वदेश्वर लाल व सारण डीआईजी अजीत कुमार राय भी मौके पर पहुंचे। पूरी घटना की जानकारी ली। लोगों को समझाने-बुझाने में जुटे। फिर डीएम ने छपरा पहुंच शांति बहाली के लिए दोनों वर्गों के प्रबुद्ध लोगों के साथ बैठक की।

कई थानों की पुलिस पहुंची

सारण जिले के विभिन्न थानों के अलावा वैशाली जिले की पुलिस भी घटना स्थल पर पहुंची है। मकेर के कस्बा मकेर, पश्चिम टोला, सब टोला सहित आधा दर्जन गांवों में लोगों में विश्वास पैदा करने के लिए सैकड़ों पुलिस जवानों ने फ्लैग मार्च किया। मकेर के महावीर चौक से मकेर बाजार, परसा रोड और दक्षिण टोला कुसहां में सैकड़ों पुलिस जवान कैंप कर रहे हैं। दक्षिण टोला स्थित आरोपित युवक के घर पर पुलिस कैंप की हुई है। आरोपित के घरवाले घर छोड़ फरार हैं।