चीन में कांच का 450 किलोमीटर का पुल शुरू, क्या है खास?

चीन में कांच का 450 किलोमीटर का पुल शुरू, क्या है खास?

आख़िरकार चीन का सबसे लंबा और सबसे ऊंचा शीशे के फ़र्श वाला ब्रिज पर्यटकों के लिए खोल दिया गया.

ये पुल हुनान प्रांत में चांगचियाचिए में दो पर्वतों को जोड़ता है. इन पर्वतों को ‘अवतार’ पर्वत कहा जाता है क्योंकि यहीं हॉलीवुड की मशहूर फ़िल्म ‘अवतार’ की शूटिंग यहां हुई थी.

समाचार एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक 300 मीटर की ऊंचाई पर बने 430 मीटर लंबे इस पुल को बनाने में 34 लाख डॉलर खर्च हुए.

इस पुल का फ़र्श तीन परतों वाले पारदर्शी शीशे के 99 चौकोर पैनलों से बनाया गया है.

 

शीशे के पुलों को लेकर चीन में दीवानगी सी देखी जा रही है. ऐसे पुलों पर सामूहिक योग और शादी जैसे आयोजन भी किए जा चुके हैं.

हुनान प्रान्त के पिंगजिआंग ज़िले में एक जोड़े ने हवा में अनोखे तरीके से शादी रचाई.

लेकिन शीशे के फ़र्श वाले पुलों की सुरक्षा को लेकर सबके मन में सवाल उठते रहे हैं.

पिछले साल सितंबर में शीशे के ऐसे ही एक ब्रिज के फ़र्श में लगे शीशे के पैनल में दरार आने से लोगों में अफ़रा तफ़री मच गई थी.

अधिकारियों के मुताबिक पुलों पर कई बड़े आयोजनों के ज़रिए सुरक्षा को लेकर शक को दूर करने की कोशिश की गई. लोगों से भरी गाड़ी पुल पर उतारी गई तो हथौड़े से शीशे को तोड़ने की कोशिश भी की गई, लेकिन सब ठीक-ठाक रहा.

बताया जा रहा है कि 430 मीटर लंबे इस पुल पर 800 लोग खड़े हो सकते हैं.

एक अधिकारी के मुताबिक निर्माण और आर्किटेक्चर में कई विश्व रिकॉर्ड स्थापित करने वाले इसरायल के आर्किटेक्ट हैम डोटान ने इस पुल का डिज़ाइन बनाया है.