गौरक्षकों ने मंदिर तोड़ा, मूर्तियों से निकाली दुश्मनी

गौरक्षकों ने मंदिर तोड़ा, मूर्तियों से निकाली दुश्मनी




प्रधानमंत्री की चेतावनी के बाद भी गौरक्षकों की हरकतें रुकने का नाम नहीं ले रही हैं, भारत की सबसे बडी धरोहर माने जाने वाले रावण के जन्मस्थान पर कल गो रक्षकों ने जमकर बवाल मचाया. यहां रखी रावण की मूर्ति तोड़ दी और इस मंदिर में रावण की मूर्ति के साथ भगवान राम, गणेश जी, दुर्गा और राधाकृष्ण की मूर्ति लग रही थी , हिंदू दल और गौरक्षक इसका विरोध कर रहे थे .dt160810_0048dt160810_048बीती रात यहां 4 गाड़ियों में 15 लोग आए और पूरा मंदिर तहस-नहस कर डाला. मंदिर में हुए निर्माण का उद्घाटन करने स्वामी चक्रपाणि को भी आना था. चक्रपाणि महाराज वही हैं जिन्होंने नीलामी में दाऊद इब्राहिम की कार खरीदी थी और उसे आग लगा दी थी. बिसरख दादरी के बिसहड़ा से ज्यादा दूर नहीं है. यह वही इलाका है जहां इखलाक को गौहत्या के शक में ज़िंदा जला दिया गया था. साधुओं के कपड़े पहने थे हमलावरों ने