नॉर्थ कोरिया में ओलंपियन्स को मिलेगी सज़ा? गुस्से में है तानाशाह

इसीलिए भारत महान है. रियो ओलंपिक में भारत के खिलाड़ियों के पास कुल जमा दो पदक हों लेकिन फिर भी वो कंधे पर बिठाए जा रहे हैं और उन्हें मिल रहे हैं करोंड़ों के इनाम. आप कल्पना भी नहीं कर सकते कि अगर ये खिलाड़ी उत्तरी कोरिया के होते तो क्या होता . उत्तर कोरिया के खिलाड़ी इस बार सात 7 मेडल जीत कर आए हैं लेकिन फिर भी उन्हें नहीं पता कि तानाशाह किम जोंग उनका क्या हश्र करेंगे. जोंग ओलंपिक में अपने देश के खिलाड़ियों के प्रदर्शन से जरा भी खुश नहीं हैं. बजाए उन्हें पुरस्कार देने के किम जोंग उनको सजा देने की तैयारी कर रहा है.
उत्तर कोरिया से 31 खिलाड़ी ओलंपिक में भेजे गए थे. इन खिलाड़ियों ने 2 गोल्ड, 3 सिल्वर और 2 ब्रॉन्ज मेडल जीते जबकि किम जोंग उन चाहते थे कि खिलाड़ी 2012 के लंदन ओलंपिक्स से भी ज्यादा पदक जीतकर लाएं, जहां उन्होंने 4 गोल्ड और दो ब्रॉन्ज जीते थे. किम जोंग उन ने खिलाड़ियों को कम से कम 5 गोल्ड और 12 अन्य पदक जीतने का टारगेट दिया था ये टारगेट खिलाड़ी पूरा नहीं कर पाए. इसीलिए तानाशाह के गुस्से की गाज खिलाड़ियों पर गिरने वाली है.
जानकारों का कहना है कि तानाशाह किम जोंग मेडल न जीत पाने वाले खिलाड़ियों को कोयले की खदान में काम करने भेज सकता है. उनके अच्छे घर खाली कराकर उन्हें निम्न स्तर के घरों में भेज सकता है. और तो और उनके राशन कार्ड की लिमिट भी बहुत कम कर दी जाएगी. ये भी कहा जा रहा है कि न सिर्फ हारने वाले खिलाड़ी बल्कि उनके परिवारवालों को भी कोयला खदानों में काम पर लगाया जा सकता है. जबकि मेडल लाने वाले खिलाड़ियों को अच्छे घर, बेहतर राशन, कार और अन्य उपहार दिए जाएंगे.
ऐसा पहली बार नहीं होगा. इससे पहले 2010 फुटबॉल वर्ल्ड कप में जब उत्तर कोरिया की टीम को हार गई थी तब किम जोंग उन ने खिलाड़ियों और उनके कोच से सजा के तौर पर कोयले की खदान में मजदूरी करवाई और उन्हें एक दो साल तक वहां से लौटने नहीं दिया गया.
किम जोंग का गुस्सा दक्षिण कोरिया के कारण ज्यादा है. दक्षिण कोरिया उतर कोरिया का सबसे तगड़ा दुश्मन है और उसे ज्यादा पदक मिले हैं. दक्षिण कोरिया रियो ओलंपिक में 21 मेडल लाया है जिनमें 9 गोल्ड मेडल हैं जबकि नॉर्थ कोरिया को सिर्फ 2.
सेल्फी वाली खिलाड़ी की जान सांसत में
वहीं यहां की जिम्नास्ट हॉन्ग उन-जॉन्ग की दुश्मन देश दक्षिण कोरिया की महिला जिमनास्ट ली यून जू के साथ ली गई सेल्फी पहले ही खलबली मचा चुकी है. उनकी भी सांसें अटकी हैं कि इस अपराध के लिए उन्हें क्या सजा सुनाई जाएगी. बता दें कि दक्षिण कोरिया और अमेरिका जैसे दुश्मन देशों के नागरिकों के साथ मित्रता दिखाने पर उत्तर कोरिया में कठोर दंड देने का प्रावधान है.

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें