शीला दीक्षित यूपी में कांग्रेस का चेहरा

शीला दीक्षित यूपी में कांग्रेस का चेहरा

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार के रूप में कांग्रेस ने अपनी वरिष्ठ नेता और तीन कार्यकाल तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं शीला दीक्षित को चुना है, और पार्टी सूत्रों के अनुसार इसकी औपचारिक घोषणा गुरुवार शाम तक की जाएगी।
कुछ हफ्ते पहले तक 78-वर्षीय शीला दीक्षित इस सोच से मुब्तिला लग रही थीं कि उत्तर प्रदेश जाना हारी हुई बाज़ी खेलने जैसा होगा और उन्होंने इस पेशकश को ठुकरा भी दिया था। शीला खुद को उत्तरप्रदेश की बहू बताती रही हैं. Sheila Dikshit onion_0_0_1_0

वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव के बाद से चुनावी हार झेलती आ रही कांग्रेस काफी वक्त से उत्तर प्रदेश के लिए रणनीति तैयार करने में जुटी हुई है, जहां अगले साल की शुरुआत में ही विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। प्रचार के दौरान पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी की पुत्री प्रियंका गांधी वाड्रा की भूमिका को लेकर भी काफी सोच-विचार जारी है।
प्रियंका की मां सोनिया गांधी और पार्टी उपाध्यक्ष बड़े भाई राहुल गांधी ही पार्टी के शीर्ष नेता हैं। अब तक के चुनावों में प्रियंका ने इन्हीं दोनों के चुनाव क्षेत्रों क्रमशः रायबरेली और अमेठी में ही पार्टी के लिए प्रचार किया है, लेकिन मांग है कि प्रियंका राज्य के अन्य हिस्सों में भी प्रचार करें।
हाल ही में पार्टी के लिए चुनावी रणनीति बनाने के काम पर लगाए गए प्रशांत किशोर, जिन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 2014 में हासिल जीत और पिछले साल बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार की शानदार जीत का श्रेय दिया जाता है, की टीम के सूत्रों के अनुसार, वह राज्य में मुख्यमंत्री पद के लिए कोई ब्राह्मण चेहरा चाहते हैं, जिसमें शीला दीक्षित फिट बैठती हैं। इसके अलावा प्रशांत किशोर के मुताबिक दिल्ली की मुख्यमंत्री के रूप में उनका तजुर्बा उत्तर प्रदेश के लोगों को भी लाभान्वित कर सकता है, जो अपने राज्य के पिछड़पन से दुःखी हैं।