बहन सिर्फ मायावती और बेटियां सिर्फ बीजेपी वालों के यहां होती हैं क्या ?

बहन सिर्फ मायावती और बेटियां सिर्फ बीजेपी वालों के यहां होती हैं क्या ?

नई दिल्ली। मायावती पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले और भाजपा से निष्कासित दयाशंकर सिंह की पत्नी स्वाति सिंह ने कहा है कि उनके परिवार को खतरा है। विवाद के बाद सामने आईं स्वाति सिंह ने  कहा कि इस पूरे विवाद के बाद उन पर और बेटियों पर बदतमीजी भरी टिप्पणियों से वे बेहद दुखी हैं।  स्वाति सिंह को सबसे ज्यादा दुख अपनी पार्टी की तरफ से है. जिस बीजेपी के लिए दयाशंकर ने बयान दिया था वो ही वोटों की खातिर उससे अलग खड़ी है.

दयाशंकर की पत्नी स्वाति सिंह ने मायावती से पूछा है कि उनके पति ने गलती की है तो कानून उन्हें सजा देगा लेकिन जो उनके परिवार और उनकी बेटियों को लेकर जो भद्दी टिप्पणियां की जा रही हैं, उनका जवाब कौन देगा?  स्वाति ने कहा कि इस तरह की भद्दी टिप्पणियों से उनकी बेटियां बेहद डर गई हैं। उनके परिवार को भी खतरा है। दयाशंकर के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि हमें कुछ नहीं पता कि वो कहां हैं। हम भी टीवी में ही देख रहे हैं।

उन्होंने कहा कि मायावती खुद एक महिला हैं। उन्हें मेरे पति के शब्दों पर आपत्ति हुई तो आज जो नारे लगे कि दयाशंकर की बेटी को पेश करो क्या वो गलत नहीं था? मेरी बेटी इसके बाद से परेशान है और डिप्रेशन में है। वो दवाई लेकर सोई है। स्वाति ने कहा कि इतना ही है तो मायावती, सतीश मिश्रा और बाकी नेता बताएं कि मैं अपनी बेटी को कहां पेश करूं। क्या सलूक करना चाहते हैं? बता दें, हम तैयार हैं। हम काफी डरे हुए हैं और हमारी सुरक्षा को खतरा है।

उन्होंने आगे कहा कि जिस तरह की लड़ाई होगी वो हम लड़ेंगे। अगर मेरे पति के खिलाफ कानूनी कार्रवाई होगी तो वो मान्य होगी, लेकिन जो नारे आज लगे हैं, उसके खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई के लिए वे तैयार रहें। उन्होंने कहा कि पति ने जिस पार्टी के लिए 25 साल दिए, उसे एक झटके में बाहर कर दिया गया। उन्हें एक गलती की चार सजा दी गई। ये कहां का इंसाफ है?

उन्होंने कहा कि मेरी बेटी ट्रॉमा में है। उसे नींद के लिए पिल्स दी जा रही है। उसके टेस्ट शुरू होने जा रहे हैं। वो पढ़ नहीं पा रही है। मेरे बच्चे ये सब देखकर परेशान हैं। हम डर के कारण बाहर नहीं निकल रहे हैं।
कल एक फोन से हमें धमकी मिली जिसके बाद स्कूल से बच्चों को जल्दी बुलवाया। दयाशंकर की पत्नी ने कहा कि वह भी एफआईआर दर्ज कराएंगी। सबसे पहले मायावती का नाम होगा।

वहीं, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि इस मामले का नुकसान अब बीएसपी को होगा। बीजेपी ने तुरंत कार्रवाई की लेकिन जिस तरह से दयाशंकर की बहन-बेटी के बारे में बातें की गईं। अब देखना है मायावती जी क्या कार्रवाई करती हैं। उनकी बहन-बेटी पर ऐसी ऐसी टिप्पणी की गई कि उन्हें दोहराया भी नहीं जा सकता।