फिक्स थी खली की खूनसनी फाइट !

अापको याद होगी खली को हलद्वानी में हुई WWE  की एक फाइट के बाद आईसीयू में भर्ती कराना पड़ा था. बताया गया था कि हमले में 44 वर्षीय खली के सिर और सीने में गंभीर चोट आई हैं और उन्हें तुरंत ही अस्पताल ले जाना पड़ा था और एक दिन उन्हें आईसीयू में बिताना पड़ा था. शनिवार को खली को अस्पताल से छुट्टी मिल गई और उन्होंने स्टील को रविवार को होने वाली फाइट के लिए ललकारते हुए कहा कि आप सभी 28 तारीख को देहरादून आइए और देखिए कि मैं कैसे बदला लेता हूं. खली ने कहा कि वह डॉक्टरों द्वारा मना किए जाने के बावजूद इस फाइट में उतरेगें और अपने प्रतिद्वंद्वंयों को जवाब देंगे.




 

हालांकि द ग्रेट खली के अचानक ही इतनी बुरी तरह घायल होने और फिर इतनी जल्दी ठीक हो जाने से इस फाइट के फिक्स होने की चर्चा भी उठी. आलोचकों का कहना है कि अगर खली सच में इतने गंभीर रूप से घायल थे कि उन्हें आईसीयू में भर्ती होना पड़ा तो वह महज चार दिन में एक और फाइट के लिए फिट कैसे हो गए? खैर, इस बात का सच जो भी हो इस फेमस रेसलर की फाइट एक बार फिर से सुर्खियों में जरूर है. आइए जानें द ग्रेट खली के साथ हुई इस फाइट का पूरा सच.




क्या फिक्स थी खली की ये घातक फाइट?




उत्तराखंड के हल्द्वानी में पहली बार आयोजित हो रही ‘द ग्रेट खली रेसलिंग शो’ की फाइट अचानक ही तब सुर्खियों में छा गई जब खली के गंभीर रूप से घायल होने की खबर आई. लेकिन असली सवाल खली के घायल होने के बाद उठे. खली को चोट लगने के बाद उन्हें हल्द्वानी स्थित ब्रजलाल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया और पूरी रात उन्हें आईसीयू में रखा गया था. लेकिन अगले दिन उनकी हालत में सुधार न होता देख उन्हें हेलिकॉप्टर से देहरादून के मैक्स हॉस्पिटल रेफर कर दिया गया. देहरादून में हेलीपैड पर लैंडिंग के बाद खली हेलिकॉप्टर से उतरकर खुद ही कई सौ मीटर दूर खड़ी ऐंबुलेंस तक गए. इसके बाद उन्हें मैक्स हॉस्पिटल ले जाया गया.

हैरानी की बात ये है कि जो इंसान कुछ ही घंटों पहले तक गंभीर रूप से घायल होकर आईसीयू में था वह अचनाक ही अपने पैरों पर कैसे खड़ा हो गया. इससे भी ज्यादा हैरानी की बात ये कि 24 तारीख को गंभीर रूप से घायल खली को न सिर्फ तीन बाद अस्पताल से छुट्टी मिल गई बल्कि 28 फरवरी को एक बार फिर से वह स्टील के खिलाफ दो-दो हाथ करने के लिए फिट हो गए हैं और खून का बदला खून से लेने का ऐलान कर दिया है.

खली के अचानक चोटिल होने और तुरंत ही फिट होकर फिर से लड़ने को फिट हो जाने का मामला रियल फाइट से ज्यादा पब्लिसिटी स्टंट नजर आता है. इतना तो है कि खली के घायल होने की खबर ने इस रेसलिंग शो को पूरे देश की निगाहों में ला दिया है और अब इस शो की हर फाइट पर लोगों की निगाहें टिकी होंगी, क्योंकि इस रेसलिंग शो से खली अपने रेसलिंग कम्पटीशन कॉन्टिनेंटल रेसलिंग इंटरटेंमेंट (CWE) को प्रमोट कर रहे हैं तो सवाल उठ रहा है कि क्या इसे चर्चा में लाने के लिए ही खली का घायल होना फिक्स्ड था.

असली नहीं नकली होती हैं WWE की फाइट?

WWE में कई बार सच में रेसलर्स को जानलेवा चोटें लगती हैं लेकिन इनमें होने वाली फाइटों के फिक्स होने का आरोप पहली बार नहीं लगा है. अगर आप WWE कि किसी भी फाइट को ध्यान से देखें तो रेसलर्स द्वारा एकदूसरे पर किए जाने वाले प्रहार, उनके घायल होने और रिंग में गिरने का तरीका और फिर अचानक ही पलटवार करने की तकनीक बहुत सी हकीकत खुद बयां कर देती है.

कुछ आलोचकों का तो यहां तक कहना है कि रेसलर्स के ज्यादातर मूव पहले से ही फिक्सड होते हैं और अपने कान में लगे ईयरफोन से रेफरी बाहर बैठे मास्टरमाइंड से मिले निर्देशों को रेसलर्स तक पहुंचाता रहता है. इन्हीं निर्देशों के हिसाब से रेसलर्स एकदूसरे पर प्रहार करते हैं और गिरते और उठते हैं. लेकिन ये सब इस तरह किया जाता है कि टीवी पर देखने वाले इसके करोड़ों फैंस को बिल्कुल असली लगे, जिससे इसकी टीआरपी बढ़ती चली जाती है.

खली की फाइट का सच क्या है ये तो वे ही जानते होंगे लेकिन इससे उन्हें जबर्दस्त चर्चा जरूर मिल गई है.

Ctsy-Ichok

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें