शराबबंदी वाले बिहार में नशे में धुत बीजेपी नेता ने 33 स्कूली बच्चों को कुचला, 9 की मौत

शराबबंदी वाले बिहार में नशे में धुत बीजेपी नेता ने 33 स्कूली बच्चों को कुचला, 9 की मौत

पटना: बिहार में शराबबंदी है, बीजेपी की ही सरकार है. वहां बीजेपी के प्रदेश मंत्री की गाड़ी शराब के नशे में धुत होकर 33 बच्चों पर चढ़ा दी जाती है. 9 बच्चों की मौत हो जाती है. ये अकेली घटना बिहार की राजनीति , वहां की शराब बंदी और राजनीति की पूरी तस्वीर सामने रख देती है. सुशासन की तस्वीर ये हैं कि इतने बच्चों को मारकर भागने वाले शख्स को पुलिस ने छुआ तक नहीं है.

उन्होंने कहा, ‘बीजेपी के लोग शराब के नशे में चूर हैं. जिस गाड़ी से हादसा हुआ है वो भाजपा के महामंत्री की गाडी थी. भाजपा के लोग आरोपी को संरक्षण देकर मामले से पल्ला झाड़ रहे हैं. नेता प्रतिपक्ष ने आगे कहा, ‘मुजफ़्फ़रपुर में बच्चों को मौत की नींद सुलाने वाले बीजेपी के इस महामंत्री को उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी क्या नहीं जानते? सुशील मोदी और नीतीश कुमार के संरक्षण की वजह से नशे में धुत्त ये नेता और इनका ड्राइवर अभी तक पकड़ा नहीं गया है.’

आपको बता दें कि आज बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के मीनापुर धर्मपुर स्कूल के 9 बच्चों की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई है और 20 बच्चे घायल हुए हैं. घटना के समय ये सभी बच्चे सड़क पार कर रहे थे तभी अनियंत्रित बोलेरो गाड़ी के चपेट में आ गए. घटना के समय चालक नशे में था. वह इन सभी बच्चों को कुचलता चला गया और मौके से फरार हो गया है. बोलेरो की चपेट में आते ही छात्रों और वहां मौजूद लोगों में चीख-पुकार मच गई. आनन-फानन में घायल पड़े बच्चों को किसी तरह से अस्पताल ले जाया गया लेकिन 9 बच्चों को बचाया नहीं जा सका. घायलों में 7 बच्चों की हालत गंभीर बनी हुई है जिनका इलाज चल रहा है. शराब बंदी के बावजूद ये शख्स नशे में धुत था और सत्ताधारी पार्टी का नेता था.

मामले पर ड्राइवर तक नहीं पकड़ा गया है लेकिन सीएम साहब ने दुख व्यक्त कर दिया है. उन्होंने पूरे मामले की जांच कराने तथा मृतक के परिजनों को मुआवजा देने की घोषणा की है. जब दुर्घटना होती है तो पुलिस जांच करती ही है. वो अपनी जांच काहे नहीं कर रही. बड़ी जांच तो बाद में होगी.