मोदी के सपनों का मोबाइल लांच करने वाला फ्रॉड में गिरफ्तार

मोदी के सपनों का मोबाइल लांच करने वाला फ्रॉड में गिरफ्तार

251 रुपए में फ्रीडम मोबाइल बेचने वाला मामला भी फर्जी निकला, इस प्रोजेक्ट लो लांच करने वाली कंपनी रिंगिंग बेल्स के डायरेक्टर मोहित गोयल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. उसके कुछ साथियों को भी पकड़ा गया है. आपको याद होगा कि इस कंपनी ने तिरंगे को हथियार बनाकर साख बनाने की कोशिश की थी बाकायदा राष्ट्रीय ध्वज का इस कंपनी ने इस्तेमाल किया था. देश भक्ति को हथियार बनाकर इसका लॉन्च किया गया और बाकायदा बीजेपी नेता मुरली मनोहर जोशी को लांच के समय आमंत्रित किया गया. इतना ही नहीं इसे प्रधानमंत्री मोदी की कामयाबी से भी जोड़ा गया

पिछले साल कंपनी के विवादों का मुद्दा संसद में उठने पर पुलिस और प्रवर्तन निदेशालय ने जांच शुरू की थी. इसके बाद रिंगिंग बेल्स के खिलाफ पोंजी स्कैम और धोखाधड़ी की शिकायतें आईं. गाजियाबाद पुलिस ने भी पिछले साल फरवरी में गोयल को धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार किया था. गिरफ्तारी शायद न होती लेकिन मामला राज्यसभा में उठ गया था.  बीजेपी के कई नेताओं से भी इनके रिश्ते की बातें की गईं.

राज्यसभा में मामला उठा तो शुरू हुई थी जांच

पिछले साल फ्रीडम 251 के बारे में कांग्रेस सांसद प्रमोद तिवारी ने बड़े स्कैम की आशंका जताई और सरकार से मिलीभगत के आरोप लगाए थे.

मामला गरमाने पर कंपनी ने दावा‌ किया था कि वह जल्द ही अपने ग्राहकों को मोबाइल की डिलेवरी करा देगी. इसके बाद पुलिस और ईडी ने मामले की पड़ताल शुरू की और कंपनी के प्रमोटर अंडरग्राउंड हो गए. इसके बाद रिंगिंग बेल्स के खिलाफ शिकायतों का दौर शुरू हो गया और इसके नोएडा ऑफिस पर ताला लटक गया.

गाजियाबाद पुलिस ने भी किया था गिरफ्तार

गाजियाबाद के एक डीलर की शिकायत पर पुलिस ने मोहित गोयल के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया था. 24 फरवरी, 2017 को गोयल की गिरफ्तारी हुई थी.

डीलर ने शिकायत में बताया था कि रिंगिंग बेल्स ने नवंबर, 2015 में फ्रीडम 251 के डिस्ट्रीब्यूशन के लिए उन्हें अप्रोच किया. इसके बाद कई मौकों पर कंपनी को 30 लाख रु. दिए, पर सिर्फ 13 लाख का ही माल मिला. बकाया रकम मांगने पर उन्हें जान से मारने की धमकियां दी गईं.

नवंबर, 2016 में कंपनी ने 251 रुपए वाले 2 लाख फोन डिलिवर करने का दावा किया था. हालांकि, उसकी यह बात साबित नहीं हो पाई.

पोंजी स्कैम के आरोप लगने पर कंपनी ने कहा था कि 7 करोड़ लोगों ने दुनिया के सबसे सस्‍ते 3G फोन (फ्रीडम 251) के लिए रजिस्ट्रेशन कराया. जिनमें से करीब 30,000 ने फोन बुक किया था. इसके बाद बुकिंग बंद हो गई.

कंपनी ने क्या दावा किया था?

आरोपों पर रिंगिंग बेल्स ने दावा किया था कि 7 करोड़ लोगों ने दुनिया के सबसे सस्‍ते 3G फोन (फ्रीडम 251) के लिए रजिस्ट्रेशन कराया. जिनमें से करीब 30,000 ने फोन बुक किया था. कंपनी की वेबसाइट पर भी ऑनलाइन बुकिंग बंद हो चुकी है.

Leave a Reply