विवेक तिवारी पर सिपाही ने आत्मरक्षा में नहीं चलाई थी गोली- पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट

विवेक तिवारी की हत्या करने का मुख्य आरोपी सिपाही प्रशांत चौधरी ने बयान दिया था कि उसने आत्मरक्षा में गोली चलायी थी.लेकिन प्रशांत चौधरी का झूठ अब पोस्टमॉर्टम से खुल गया है वो पुलिस की वर्दी में एक हत्यारा था. डॉक्टरों के मुताबिक विवेक की ठुड्डी के पास लगी गोली ऊपर से नीचे की ओर जाकर गले के पास फंसी थी. इसका मतलब ये हुआ कि कि प्रशांत ने बोनट पर चढ़कर गोली मारी.

दूसरे शब्दों में जब प्रशांत ने गोली चलाई तो वो ज़मीन पर पड़ा हुआ नहीं था और उसने गिरने के बाद लेटे लेटे गोली नहीं चलाई. गोली ऊंचाई की तरफ से चली है.

पहले दिन प्रशांत ने बयान दिया था कि विवेक ने उस पर चढ़ाने की नियत से उसकी बाइक पर अपनी एसयूवी दो बार चढ़ाने की कोशिश की थी. इस दौरान ही उसने नीचे गिरी हालत में ही उस पर गोली चला दी थी.

पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों जितेन्द्र श्रीवास्तव और प्रवीण शर्मा ने रिपोर्ट में लिखा है कि विवेक के मुंह से 3.5 सेमी. नीचे ठुड्डी के बांयी तरफ गोली लगी है. इस रिपोर्ट में लिखा है कि गोली सिर के नीचे गले की तरफ फंसी थी. एक्सरे कराने पर दिखा कि गले के बांयी तरफ 11 सेमी. नीचे लगी है.