वाट्सएप पर सुपर वायरल हो रही है ये पोस्ट, अंदर लिखे हैं आंखें खोलने वाले 70 कड़वे सच

वाट्सएप पर सुपर वायरल हो रही है ये पोस्ट, अंदर लिखे हैं आंखें खोलने वाले 70 कड़वे सच

य़े पोस्ट वाट्सएप पर पॉपुलर हो रही है. बड़ी बात ये है कि इस पोस्ट में  नतो राजनीति है न धर्म फिर भी इसकी हर लाइन आंखें खोलने वाली है. एक बार पढ़ना तो बनता है.

 

पतला होना ही स्वास्थ्य की निशानी नही है क्योंकि बहुत से मोटे लोग उम्र पूरी करके जाते हैं और पतले लोग समय से पहले !

अपने को बढ़ती उम्र के साथ स्वीकारना एक तनावमुक्त जीवन देता है. हर उम्र एक अलग तरह की खूबसूरती लेकर आती है उसका आनंद लीजिये.

बाल रंगने है तो रंगिये,

वज़न कम रखना है तो रखिये,

मनचाहे कपड़े पहनने है तो पहनिए,

बच्चों की तरह खिलखिलाइये,

अच्छा सोचिये,

अच्छा माहौल रखिये,

शीशे में दिखते हुए अपने अस्तित्व को स्वीकारिये.

कोई भी क्रीम आपको गोरा नही बनाती,

कोई शैम्पू बाल झड़ने नही रोकता,

कोई तेल बाल नही उगाता,

कोई साबुन आपको बच्चों जैसी स्किन नही देता.

चाहे वो प्रॉक्टर गैम्बल हो या पतंजलि …..सब सामान बेचने के लिए झूठ बोलते हैं.

ये सब कुदरती होता है.

उम्र बढ़ने पर त्वचा से लेकर बॉलों तक मे बदलाव आता है.

पुरानी मशीन को maintain करके बढ़िया चला तो सकते हैं, पर उसे नई नही कर सकते.

ना किसी टूथपेस्ट में नमक होता है ना किसी मे नीम.

किसी क्रीम में केसर नही होती, क्योंकि 2 ग्राम केसर भी 500 रुपए से कम की नही होती !

जो आपकी पॉकेट allow करती है वो प्रसाधन खरीदिये, क्योंकि केमिकल्स सब में हैं.

lux की बनियान साधारण बनियान से इसलिये महंगी है क्योंकी उसमे विज्ञापन के लिए सनी देओल और अक्षय कुमार होते हैं

…और वो लक्स नही, calvin cline या पियरे कार्डिन पहनते हैं.

करीना कपूर कभी लक्स साबुन से नही नहाती

और अमिताभ बच्चन लाल तेल नही लगाता !

कोई बात नही अगर आपकी नाक मोटी है तो,

कोई बात नही आपकी आंखें छोटी हैं तो,

कोई बात नही अगर आप गोरे नही हैं

या आपके होंठों की shape perfect नही हैं….

फिर भी हम सुंदर हैं,

अपनी सुंदरता को पहचानिए.

 

दूसरों से कमेंट या वाह वाही लूटने के लिए सुंदर दिखने से ज्यादा ज़रूरी है, अपनी सुंदरता को महसूस करना.

हर बच्चा सुंदर इसलिये दिखता है कि वो छल कपट से परे मासूम होता है और बडे होने पर जब हम छल व कपट से जीवन जीने लगते है तो वो मासूमियत खो देते हैं

…और उस सुंदरता को पैसे खर्च करके खरीदने का प्रयास करते हैं.

 

मन की खूबसूरती पर ध्यान दो.

यह कर्तव्य हो कि अपने परिवार में अपनी पत्नी, बेटी, बहन को ये अहसास दिलायें कि वो प्राकृतिक रूप से सुंदर हैं,

वरना वो केमिकल्स का सहारा लेकर अपना स्वास्थ्य खराब कर लेंगी.

आजकल युवा लड़के बॉडी बनाने की धुन में पागल रहते हैं

ये असर है उन फ़िल्म स्टारों और मॉडल्स का जिससे ये युवा सोचते हैं कि वो अपने चहेते हीरो जैसी बॉडी बना कर हीरो जैसे दिखेंगे.

आपको शायद पता नही कि एक भी हीरो naturally बॉडी नही बनाता.

इनके पीछे बहुत सी प्लास्टिक सर्जरी,  steroids implants, lyposuctions, body contouring  का हाथ होता है.

आपरेशन से 6 pack बनवाते हैँ,

चेहरे पर सर्जरी करवाते हैं,

बाल उगवाते हैं,

मांसपेशियों में सिलिकॉन भरवाते हैं

…और ये सब वो इसलिते करते हैं,

क्योंकि उन्हें इन सबका पैसा मिलता है.

स्क्रीन पर सुंदर दिखना उनके धंधे की मजबूरी है उसके लिये वो शरीर से भी खेलते हैं वरना उन्हें कोई काम नही देगा.

लेकिन आम जीवन मे हमे बॉडी दिखाने के पैसे नही मिलते, काम करने के पैसे मिलते हैं तो हम हीरो जैसे दिखने से अच्छा है अपने काम मे हुनर दिखायें .

हमारी तरक्की तो उसी से होगी.

पेट निकल गया तो कोई बात नही उसके लिए शर्माना ज़रूरी नही .

आपका शरीर आपकी उम्र के साथ बदलता है तो वज़न भी उसी हिसाब से घटता बढ़ता है उसे समझिये.

सारा इंटरनेट और सोशल मीडिया तरह तरह के उपदेशों से भरा रहता है,

यह खाओ,वो मत खाओ

ठंडा खाओ , गर्म पीओ,

कपाल भाती करो,

सवेरे नीम्बू पीओ ,

रात को दूध पीओ

ज़ोर से सांस लो, लंबी सांस लो

दाहिने से सोइये ,

बाहिने से उठिए,

हरी सब्जी खाओ,

दाल में प्रोटीन है,

दाल से क्रिएटिनिन बढ़ जायेगा.

अगर पूरे एक दिन सारे उपदेशों को पढ़ने लगें तो पता चलेगा

ये ज़िन्दगी बेकार है ना कुछ खाने को बचेगा ना कुछ जीने को !!

आप डिप्रेस्ड हो जायेंगे.

ये सारा ऑर्गेनिक ,एलोवेरा, करेला, मेथी ,पतंजलि में फंसकर दिमाग का दही हो जाता है.

स्वस्थ होना तो दूर स्ट्रेस हो जाता है.

अरे! अपन मरने के लिये जन्म लेते हैं,

कभी ना कभी तो मरना है अभी तक बाज़ार में अमृत बिकना शुरू नही हुआ.

हर चीज़ सही मात्रा में खाइये,

हर वो चीज़ थोड़ी थोड़ी जो आपको अच्छी लगती है.

भोजन का संबंध मन से होता है

और मन अच्छे भोजन से ही खुश रहता है.

मन को मारकर खुश नही रहा जा सकता.

थोड़ा बहुत शारीरिक कार्य करते रहिए,

टहलने जाइये,

लाइट कसरत करिये

व्यस्त रहिये,

खुश रहिये ,

शरीर से ज्यादा मन को सुंदर रखिये.

अगर पैसे से सुंदरता व जीवन खरीद लिया जाता तो कोई बड़ा आदमी इस दुनिया से ना जाता और हर अमीर आदमी सुंदर होता.

 

1 Comment

  1. Very very very nice

Leave a Reply