बीजेपी का पूर्व गृहमंत्री बलात्कार के केस में गिरफ्तार, पहले हुई बचाने की कोशिश

पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद को SIT ने शाहजहांपुर से गिरफ्तार कर लिया है. उनपर शाहजहांपुर स्थित एसएस लॉ कॉलेज की छात्रा ने यौन शोषण के आरोप लगाए थे. मामले की जांच कर रही एसआईटी टीम ने स्वामी चिन्मयानंद को उनके मुमुक्षु आश्रम से गिरफ्तार किया है. शाहजहांपुर जिला अस्पताल में चिन्मयानंद का मेडिकल कराया जा रहा है. जिसके बाद आज उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा. बता दें पीड़िता की ओर से विडियो जारी किए जाने के बाद से चिन्मयानंद की गिरफ्तारी की मांग की जा रही थी. इस बीच पीड़िता ने आत्मदाह करने की धमकी दी और सोशल मीडिया पर लगातार दबाव बढ़ता रहा.

उधर स्वामी चिन्मयानंद को पूरा मौका दिया गया कि वो सबूतों और गवाहों से छेड़छाड़ कर सके. चिन्मयानंद समर्थकों ने भी अस्पताल में ईसीजी कराते हुए अपना फोटो सोशल मीडिया पर डाला और खुद को बीमार दिखाकर सहानुभूति बटोरने की कोशिश की.

इससे पहले बुधवार को चिन्मयानंद की खराब तबीयत का हवाला देते हुए उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था. चिन्मयानंद को शाहजहांपुर मेडिकल कालेज से गुरुवार शाम को केजीएमयू के लिए रेफर कर दिया गया, लेकिन वह सीधे केजीएमयू नहीं गए. वह मेडिकल कालेज से अपने मुमुक्षु आश्रम पहुंचे. जहां उन्हें आज सुबह गिरफ्तार कर लिया गया.

बता दें छात्रा ने एक टीवी चैनल को दिए एक इंटरव्यू में कहा था कि चिन्मयानंद की जल्द ही गिरफ्तारी न होने पर वह केरोसिन डालकर आत्महत्या कर लेगी. इस पर एसआईटी चीफ आईजी नवीन अरोड़ा ने कहा कि किसी की भावनाओं के अनुरूप जांच-पड़ताल नहीं होती, तथ्‍यों के आधार पर होती है. आईजी के अनुसार हाईकोर्ट में 23 तारीख को इस मामले की स्टेटस रिपोर्ट पेश की जाएगी. बता दें स्वामी चिन्मयानंद अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में गृह राज्य मंत्री थे.