जब 13 साल का लड़का नोटों से भरा बैग लेकर थाने पहुंचा

जब 13 साल का लड़का नोटों से भरा बैग लेकर थाने पहुंचा

भोपाल: रतलाम के स्टेशन रोड पुलिस थाने पर गुरुवार दोपहर उपस्थित पुलिसकर्मी उसे समय आश्चर्यचकित हो गए जब 13 साल का एक बालक रुपयों से भरा बैग लेकर पहुंचा और कहा साहब जिसके रुपये हैं, उसे लौटा दो. पुलिसकर्मी उसे व बैग को देखते रहे और फिर बैग खोला तो वास्तव में उसमें एक लाख रुपये से अधिक रुपये भरे हुए थे.

 

कुछ देर बाद पुलिस ने उसे व उसके रुपयों से भरे उसके बैग को चाइल्ड लाइन के सुपुर्द कर दिया. चाइल्ड लाइन के टीम मेम्बर उसे अपने कार्यालय ले गए, जहां उससे पूछताछ की जा रही है.

 

सुनील (परिवर्तित नाम) ने बताया कि वह झाबुआ जिले के ग्राम कल्याणपुरा वाली खेड़ी का रहने वाला है. तीसरी कक्षा तक पढ़ा है और 21 जनवरी को वह गुजरात के अहमदाबाद (गुजरात) गया था. वहां उसने एक माह तक किराना दुकान पर काम किया. इसके बाद एक माह दूसरी जगह काम किया.

 

इस दौरान उसकी एक ट्रक चालक से पहचान हो गई और वह नागपुर (महाराष्ट्र) चला गया. वहां सात हजार रुपये माह मासिक वेतन और चार सौ रुपये रोज के हिसाब से ट्रकों का व्यवसाय करने वाले मोनू साहू के यहां काम करने लगा. दो माह से वहां काम कर रहा था. उसने मासिक वेतन नहीं दिया.

 

17 जून को वहीं काम करने वाले ट्रक चालक प्रेम सोनटके ने उसे 1 लाख 12 हजार 300 रुपये दिए और कहा कि ये रुपये लेकर चले जा. मोनू तुझे रुपये नहीं देगा वह वेतन नहीं देता है. वह रुपये बैग में रखकर इंदौर चला गया. वहां से ट्रेन में सवार होकर गुरुवार को रतलाम पहुंचा.

मोनू ने उसके घर फोन कर बताया कि सुनील रुपये लेकर भाग गया है. उसे घर वालों ने यह जानकारी दी. उसे यह रुपये नहीं चाहिए, यह रुपये मोनू को लौटा दो. उधर सूचना मिलने पर चाइल्ड लाइन के टीम मेम्बर जोगेंद्रसिंह जादौन स्टेशन रोड पुलिस थाने पहुंचे और रुपये का बैग व सुनील को चाइल्ड लाइन कार्यालय ले गए. उन्होंने बताया कि सुनील से घटनाक्रम की जानकारी लेकर उसके परिजन को बुलावाया जाएगा. आगे जो भी नियमानुसार कार्रवाई होगी की जाएगी.