इमरान खान की गांधी गीरी, मसूद अज़हर के बेटे और भाई समेत 44 आतंकी गिरफ्तार

इमरान खान में जैसे महात्मा गांधी की आत्मा घुस गई है. यहां से मोदी घर में घुसकर मारने की बातें कर रहे हैं और वहां से पाकिस्तान शांति के तोहफे पर तोहफे भेज रहा है. पाकिस्तान में आज जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर के भाई और बेटे समेत 44 आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया.

पाक मीडिया के मुताबिक, विदेश राज्य मंत्री शहरयार अफरीदी ने बताया कि प्रतिबंधित संगठनों के सदस्यों को गिरफ्तार किया गया. इनमें मसूद अजहर का भाई अब्दुल असगर और बेटा हमजा अजहर भी शामिल है. असगर पुलवामा हमले में आरोपी है. उन्होंने कहा कि ये कदम किसी देश के धौंस में आकर नहीं उठाया जा रहा बल्कि आतंक पर नियंत्रण की ज़रूरतों को समझते हुए उठाया जा रहा है.

पाक मीडिया के मुताबिक, अफरीदी ने बताया कि आतंकियों के खिलाफ यह कार्रवाई किसी भी अंतरराष्ट्रीय दबाव में नहीं, बल्कि देश के लिए है. आतंकियों पर इस तरह की कार्रवाई दो हफ्तों तक जारी रहेगी. यह कार्रवाई आश्वस्त करती है कि पाकिस्तान की धरती को किसी भी आतंकी गतिविधि के लिए इस्तेमाल नहीं होने दिया जाएगा. 

संयुक्त राष्ट्र में पाक की स्थाई प्रतिनिधि मलीहा लोधी ने मंगलवार को कहा कि भारत ने एक डोजियर भेजा है, जिसे हम देख रहे हैं. अगर इसमें कुछ ठोस मिलता है, तो ही हम कार्रवाई करेंगे. लेकिन ऐसा कुछ नहीं मिला तो हम कुछ नहीं करेंगे. इससे पहले पाक के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी कहा था कि इस हमले की किसी भी तरह की जांच के लिए हम तैयार हैं और अगर ठोस सबूत मिलते हैं तो कार्रवाई की जाएगी.

इससे पहले सोमवार को पाकिस्तान सरकार ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा समिति के द्वारा प्रतिबंधित सभी संगठनों की संपत्ति सीज करने का आदेश दिया था. डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, पाक विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने कहा कि अब प्रतिबंधित संगठनों की सारी संपत्ति पर सरकार का नियंत्रण होगा. इसमें उनकी चंदा जुटाने की प्रक्रिया और एम्बुलेंस सेवा भी शामिल है.