दिल्ली के इतिहास के सबसे विवादास्पद मुख्य सचिव का तबादला, मोदी सरकार ने अपने पास बुलाया

दिल्ली के चीफ सेक्रटरी अंशु प्रकाश का ट्रांसफर कर उन्हें टेलिकॉम डिपार्टमेंट भेज दिया गया है। केंद्र सरकार की अपॉइन्टमेंट कमिटी ऑफ कैबिनेट ने अंशु प्रकाश को डिपार्टमेंट ऑफ टेलिकम्युनिकेशन में अडिशनल सेक्रटरी के पद पर तैनात करने के आदेश जारी किए हैं। उल्लेखनीय है कि प्रकाश पिछले साल 1 दिसंबर को दिल्ली के चीफ सेक्रटरी बने थे, लेकिन आम आदमी पार्टी (आप) सरकार के साथ उनके रिश्ते तल्ख रहे। प्रकाश का नाम तब सुर्खियों में आया था जब उन्होंने सीएम हाउस में उनके साथ मारपीट का आरोप लगाया था जिसके बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और आप के 11 विधायकों के खिलाफ चार्जशीट भी दाखिल की गई थी।

मोदी सरकार के डिपार्टमेंट ऑफ पर्सनेल ऐंड ट्रेनिंग ने दिल्ली के चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश का तबादला कर दिया है.  सरकार ने 17 नवंबर को प्रकाश के ट्रांसफर का आदेश जारी किया. सीनियर आईएएस अधिकारी अंशु प्रकाश 1986 बैच और अरुणाचल-गोवा-मिजोरम एवं केंद्र शासित (एजीएमयूटी) कैडर के आईएएस अधिकारी हैं।

अंशु प्रकाश के कार्यकाल में जो हुआ वो अब तक दिल्ली के इतिहास में नहीं हुआ. चीफ सेक्रेटरी ने दिल्ली के विधायकों पर सीएम पर मारपीट का आरोप लगाया . इतना ही नहीं उनके खिलाफ केस भी दर्ज हुआ. अंशु प्रकाश के समय में ही दिल्ली के अफसरों ने सरकार की मीटिंग में हिस्सा लेने से इनकार कर दिया.

अंशु प्रकाश के समय ही ऐसा हुआ कि विधानसभा की जांच कमेटी में उन्होंने जाने से इनकार कर दिया. बाद में अदालत को इसमें हस्तक्षेप करना पड़ा.

अंशु प्रकाश पहले ऐसे चीफ सेक्रेटरी हैं  जिनके साथ दिल्ली की सरकार का सीधा जुडाव टकराव रहा और जिनके समर्थन में कर्मचारी हिंसा पर उतारू हो गए और सचिवालय में हड़ताल हो गई.

सीएम हाउस में चीफ सेक्रटरी अंशु प्रकाश के साथ कथित मारपीट के मामले ने जबर्दस्त तूल पकड़ा था जबकि मुख्यमंत्री ने अंशु प्रकाश के आरोपों को गलत बताया था। केजरीवाल ने इसे राजनीतिक साजिश का एक हिस्सा भी बताया था। वहीं अंशु प्रकाश से कथित मारपीट के मामले में दिल्ली पुलिस ने पटियाला हाउस कोर्ट में अगस्त में चार्जशीट दाखिल की थी। मारपीट व बदसलूकी के इस केस में 13 लोगों को आरोपी बनाया गया है, जिसमें मुख्यमंत्री केजरीवाल, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और 11 विधायकों के नाम हैं।